News Narmadanchal
अनोखा फैसला: इस राज्य की एक कोर्ट ने महिला को दिया आदेश, पति को देना होगा हर महीन 1000 रुपए का गुजारा भत्ता

अनोखा फैसला: इस राज्य की एक कोर्ट ने महिला को दिया आदेश, पति को देना होगा हर महीन 1000 रुपए का गुजारा भत्ता

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक अनोखा मामला सामने आया है। जहां पर एक पति ने पत्नी से गुजारा भत्ता मांगने के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। फैमिली कोर्ट ने पति के हक में फैसला भी सुनाया। मुजफ्फरनगर जिले की एक फैमिली कोर्ट ने महिला को आदेश देते हुए कहा है कि उसे अपने पति को हर महीने 1000 रुपये का गुजारा भत्ता देना होगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, महिला एक सेवानिवृत्त है, जिससे हर महीने एक निश्चित पेंशन मिलती है। वहीं दूसरी तरफ पति ने कोर्ट में 2013 में हिंदू विवाह अधिनियम 1955 के तहत एक याचिका दायर कर पत्नी से भरण-पोषण की मांग की थी। जिसे बाद में कोर्ट ने उसकी याचिका को स्वीकार कर लिया और अब कोर्ट ने आदेश देते हुए महिला से कहा है कि हर महीने अपने पति को एक हजार रुपए गुजारा भत्ते के तौर पर देने होंगे।

जानकारी के लिए बता दें कि महिला को हर महीने कम से कम 12,000 पेंशन के तौर पर मिलते हैं, जबकि पति के पास गुजारा भत्ता करने के लिए आय का स्रोत नहीं है। भारतीय संविधान के मुताबिक, हिंदू विवाह अधिनियम की धारा 24 में कहा गया है कि यदि पति या पत्नी किसी के पास खर्च के लिए कोई स्वतंत्र पर्याप्त आय नहीं है, तो ऐसे में पति या पत्नी की तरफ से दायर की गई याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट आदेश दे सकता है, जिसके पास आय का स्रोत हो। कोर्ट पति या पत्नी में से किसी एक को गुजारा भत्ता देने का आदेश दे सकती है।

मुजफ्फरनगर जिले की एक फैमिली कोर्ट ने महिला को आदेश देते हुए कहा है कि उसे अपने पति को हर महीने 1000 रुपये का गुजारा भत्ता देना होगा।

Related Articles