News Narmadanchal
अब तीन किश्तों में फीस जमा करवा सकेंगे विद्यार्थी, दूसरी मेरिट लिस्ट 10 को

अब तीन किश्तों में फीस जमा करवा सकेंगे विद्यार्थी, दूसरी मेरिट लिस्ट 10 को

हरिभूमि न्यूज.

पहली मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद कॉलेजों (Colleges) में दाखिला लेने के लिए जमा करवाई जा रही फीस को छात्र तीन किश्तों में भर सकते हैं। इसके लिए विभाग ने पत्र भेजकर सभी महाविद्यालयों को सूचित कर दिया है।

इसके लिए पहली किश्त दो किश्तों में तीस-तीस और आखरी किश्त चालीस प्रतिशत की होगी। इतना ही नहीं जो विद्यार्थी एक समय में पूरी या फिर दो किश्त में फीस भरना चाहे तो वो भी ऑप्शन साइट पर उपलब्ध रहेगा।

फीस किश्तों में किस तरह जमा होगी इसके बारे में अभी स्पष्ट गाइड लाइन नहीं है। वहीं विभाग ने फीस (Fees) जमा करने की तारीख को भी दो दिन आगे बढ़ाते हुए 8 अक्टूबर कर दिया है। पहले फीस 6 अक्टूबर तक जमा करवानी थी। इतना ही नहीं दूसरी मेरिट लिस्ट अब 8 अक्टूबर की जगह 10 अक्टूबर को जारी होगी।

फीस जमा करवाने की तारीख को उच्चतर शिक्षा विभाग ने बढ़ाते हुए छात्रों को राहत प्रदान की है। अब विद्यार्थी 8 अक्टूबर तक ऑनलाइन फीस जमा करवा सकते हैं। वहीं दूसरी मेरिट लिस्ट दस अक्टूबर को जारी की जाएगी, लेकिन दूसरी मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद विद्यार्थी कब तक फीस जमा करवा सकते हैं, इस बारे में उच्चतर शिक्षा विभाग ने कोई निर्देश जारी नहीं किए हैं। पहली मेरिट लिस्ट में जिन विद्यार्थियों का नाम आया है, उन विद्यार्थियों को ऑनलाइन फीस जमा करवाने में काफी राहत मिली है।

एक अक्टूबर को जारी हुई थी पहली मेरिट लिस्ट

यहां बता दें कि पहली मेरिट सूची एक अक्टूबर को जारी की गई थी। जिसके बाद विद्यार्थियों को छह अक्टूबर तक ऑनलाइन फीस जमा करवानी थी। तकनीकि खामियों के कारण पहले दो दिन तक विद्यार्थियों को फीस पोर्टल पर भरने में काफी परेशानी हुई। इतना ही नहीं परेशानी से राहत दिलाते हुए डीएचई ने बैंक भी बदल दिया, जिसके बाद फीस सुचारु रुप से भरी गई। अब विभाग ने और राहत प्रदान करते हुए 6 की जगह 8 अक्टूबर तक फीस जमा करवाने के आदेश जारी कर दिए हैं।

एसएफआई आज कॉलेजों में देगी ज्ञापन

कॉलेज इकाई कमेटी के सचिव सुमित ने कहा कि काॅलेज में पहली दाखिला सूची लग चुकी है। पहली सूची में छात्र का नाम आ गया है तो दूसरी लिस्ट में नहीं आएगा और फीस वापिस की भी कोई सुविधा नहीं हैं।

वहीं अलगी लिस्ट के लिए काॅलेज च्वाईस का मौका भी नहीं दिया जा रहा। इस कारण विद्यार्थी अपने मनचाहे कॉलेज में दाखिला नहीं ले पा रहे हैं। सुमित ने बताया कि 6 अक्टूबर को सभी काॅलेज में एसएफआई प्राचार्य को उच्च शिक्षा विभाग के नाम ज्ञापन सौंपेगा।

उन्होंने कहा कि अगर कोई विद्यार्थी दो या तीन कॉलेजों के लिए आवेदन करता है तो उसका नाम किसी एक कॉलेज में आ जाए तो वह अपने पसंद के कॉलेज में दाखिला नहीं ले पाएगा चाहे उसकी प्रतिशत उस कॉलेज के लिए पर्याप्त ही क्यों ना हो। एसएफआई मांग करती है कि छात्रों को विकल्प दिया जाना चाहिए कि वह अपनी इच्छा से अपने विद्यालय का चयन कर सके। 

पहली किश्त दो किश्तों में तीस-तीस और आखरी किश्त चालीस प्रतिशत की होगी। इतना ही नहीं जो विद्यार्थी
(Student) एक समय में पूरी या फिर दो किश्त में फीस भरना चाहे तो वो भी ऑप्शन साइट पर उपलब्ध रहेगा।

Related Articles