News Narmadanchal
अमरेली : नन्हें बालक शावकों के साथ खेलते देख शेरनी ने गुस्से में ये किया

अमरेली : नन्हें बालक शावकों के साथ खेलते देख शेरनी ने गुस्से में ये किया

जंगल के पास के इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए किसी जंगली जानवर का हमला कोई बड़ी बात नहीं है। आये दिन ऐसी खबरें सामने आती रहती है। मंगलवार को गुजरात के अमरेली जिले में एक 5 साल के बच्चे पर शेर के हमला करने की घटना सामने आई है। इस क्षेत्र के लोग शेरों के साथ ही वहां रहते हैं। ऐसे में एक 5 साल का लड़का दो शेर के शावकों के साथ खेल रहा था। हालांकि वो इस बात से अनजान था कि उन शावकों की माँ आसपास ही थी।

जिले के उचिया गांव में बालक किशोर का परिवार रहता है। उसके माता-पिता मजदूर के रूप में काम करते हैं। किशोर अपने माता-पिता के साथ झोपड़ी के बाहर सो रहा था। इसी बीच सुबह करीब 4 से 5 के बीच उसकी आंखें खुलीं। उसने देखा कि बाहर दो छोटे शेर बैठे थे।

किशोर शेर के शावकों के साथ खेलने लगा। जबकि पास में ही खड़ी इन बच्चों की माँ को अपने बच्चे के साथ किसी इंसान को देखकर गुस्सा आ गया। इसके बाद उस शेरनी किशोर को जबड़े में दबाकर 3 किमी दूर एक रेलवे ट्रैक पर ले गई। इस बीच किशोर की मौत हो चुकी थी। गुस्से से भारी हुई शेरनी ने किशोर के सिर और पैर को फाड़ दिया।

हालांकि किशोरी के परिवार के लोग शेरनी के पीछे दौड़े, लेकिन कोई उसे बचा नहीं पाया। पूरे मामले की जानकारी वन विभाग को दी गई। वन विभाग और गांव के लोगों ने शेरनी की तलाश शुरू की। पूरे मामले पर वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि यहां के शेर इंसानों पर हमला नहीं करते और न ही नरभक्षी होते हैं, लेकिन इस मामले ने सभी को झकझोर कर रख दिया है।
आपको बता दें कि इस हमले को अंजाम देने वाली शेरनी ने कुछ महीने पहले एक बकरी को अपना शिकार बनाया था। वन विभाग के अधिकारी संदीप कुमार ने बताया कि शेरनी अभी भी गुस्से में थी लेकिन उसे पकड़ने की कोशिश जारी है। इस इलाके के कांग्रेस विधायक अमरीश डेरे ने भी क्षेत्र में एक नए अभयारण्य के निर्माण की मांग की है।

जंगल के पास के इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए किसी जंगली जानवर का हमला कोई बड़ी बात नहीं है। आये दिन ऐसी खबरें सामने आती रहती है। मंगलवार को गुजरात के अमरेली जिले में एक 5 साल के बच्चे पर शेर के हमला करने की घटना सामने आई है। इस क्षेत्र के लोग

Related Articles