News Narmadanchal
अमित जोगी को आशंका- सरकार नहीं लड़ने देगी चुनाव, कहा- आजमा रहे हैं कई हथकंडे

अमित जोगी को आशंका- सरकार नहीं लड़ने देगी चुनाव, कहा- आजमा रहे हैं कई हथकंडे

रायपुर. मरवाही विधानसभा उपचुनाव की घोषणा होने के साथ ही अब इस सीट के लिए सियासी दांवपेंच तेज हो गए हैं। राज्य की सत्ताधारी कांग्रेस-व मुख्य विपक्षी भाजपा ने अपने प्रत्याशी भी तय नहीं किए हैं, लेकिन तीसरी ताकत के रूप में मौजूद छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी(छजकां) के संभावित प्रत्याशी अमित जोगी राज्य सरकार पर जमकर निशाना साध रहे हैं। उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा है कि कांग्रेस सरकार कई हथकंडे अपना रही है जिसकी वजह से वे चुनाव न लड़ सकें। वहीं कांग्रेस ने कहा है कि फैसला मरवाही की जनता करेगी।

ये है अधिसूचना प्रकाशन का मामला

अमित जोगी ने राजपत्र में प्रकाशित जिस अधिसूचना को मुद्दा बनाया है, उसके संबंध में वे पिछले दिनों राज्यपाल अनुसईया उईके से मिलकर उनके समक्ष अपनी बात रख चुके हैं। उन्होंने कहा है कि छतीसगढ़ में संवैधानिक तंत्र पूरी तरह विफल हो गया हैं, कांग्रेस राज में कानून का राज खत्म हो गया हैं, लोकतंत्र में ब्यूरोक्रेसी हावी हो गई हैं। इसका उदाहरण देते हुए कहा 24 सितंबर 2020 को छत्तीसगढ़ राजपत्र (असाधारण) छत्तीसगढ़ शासन के राज्यपाल के नाम से और उनके आदेशानुसार जारी किया गया है।

जाति प्रमाण पत्र का पेंच

नए नियम के मुताबिक जिला छानबीन समिति का गठन कलेक्टर कर सेकेंगे ( इसे पहले राज्यपाल गठित करते थे ) उस में 5 सदस्य रहेंगे ( पहले 6 सदस्य थे )। अधिकतम 15 दिन जवाब नहीं मिलने पर उसको एक – पक्षीय प्रमाण पत्र निलम्बित करने का अधिकार प्राप्त होगा ( इसके पहले उसे प्रमाण पत्र रद्द करने का कोई अधिकार नहीं प्राप्त था ) राज्य छानबीन समिति बिना सतर्कता समिति का गठन किए केवल कारण बताओ नोटिस के आधार पर प्रमाण पत्र निरस्त कर सकेगी ( पूर्व में बिना सतर्कता समिति की सम्पूर्ण जाँच के राज्य समिति प्रमाण पत्र निरस्त नहीं कर सकती थी )।

कांग्रेस ने कहा-हार देख कर रहे विलाप

कांग्रेस के वरिष्ठ प्रदेश प्रवक्ता शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा कि चुनाव का फैसला जनता करती है। लेकिन कांग्रेस के खिलाफ भाजपा और उसकी बी टीम जोगी कांग्रेस अपनी हार तय देखकर विलाप कर रहे हैं। कांग्रेस सरकार ने इतने विकास कार्य कराए हैं कि जनता का आशीर्वाद मिलना तय है। जनता को तय करने दीजिए। अभी से हार के बहाने तलाश कर रहे हैं।

भाजपा ने कहा-बौखला गई सरकार

भाजपा प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा कि सरकार ने दो साल में कोई विकास कार्य नहीं कराया। लेकिन सरकार येनकेन प्रकार से यह चुनाव जीतना चाहती है। जाेगी कांग्रेस के नेताओं का आरेाप यहां तक कि सरकार तंत्र और मंत्रों का उपयोग तक कर रही है। सरकार को संवेदनशीलता से इन सब आरोपों का जवाब देना चाहती है। अचानक अरबों रुपए की घोषणा कर सरकार अपनी असफलताओं को छिपाना चाहती है। लेकिन जनता समझदार है।

अगर डर नहीं तो लड़ने दें चुनाव

अमित जोगी ने कहा है कि- एक तरफ तो कहते हैं कि हमें अमित जोगी से कोई डर नहीं हैं, अगर डर नहीं है तो लड़ने दे चुनाव। अपने आप पता चल जाएगा कि जनता किसके साथ है। तरह-तरह के हथकंड़े अपनाए जा रहे हैं। रातों-रात कानून को बदल दिया गया, पहली बार भारत के इतिहास में ऐसा हुआ। राज्यपाल के फर्जी दस्तखत करके उनको सूचना दिए बिना अधिसूचना जारी करवा दी। सरकार की पूरी ताकत झौंक दी सरकार के सारे मंत्री यहां भेज दिए। करोड़ों रुपए की घोषणाएं कर दी। उसके बाद भी इन्हें दिख रहा है कि इनकी हार सुनिश्चित है। कुछ भी कर लें मरवाही से हम जोगी की पहचान को हम नहीं मिटा पाएंगे।

मरवाही विधानसभा उपचुनाव की घोषणा होने के साथ ही अब इस सीट के लिए सियासी दांवपेंच तेज हो गए हैं। राज्य की सत्ताधारी कांग्रेस-व मुख्य विपक्षी भाजपा ने अपने प्रत्याशी भी तय नहीं किए हैं, लेकिन तीसरी ताकत के रूप में मौजूद छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस जोगी(छजकां) के संभावित प्रत्याशी अमित जोगी राज्य सरकार पर जमकर निशाना साध रहे हैं। उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा है कि कांग्रेस सरकार कई हथकंडे अपना रही है जिसकी वजह से वे चुनाव न लड़ सकें। वहीं कांग्रेस ने कहा है कि फैसला मरवाही की जनता करेगी।

Related Articles