News Narmadanchal
इस अरबपति ने कहा, मैं कोरोना वायरस की वैक्सीन नहीं लगाउंगा!

इस अरबपति ने कहा, मैं कोरोना वायरस की वैक्सीन नहीं लगाउंगा!

अमेरिका में कोरोना ने अधिक तबाही मचाई है। वहां के व्यापारी कह रहे हैं कि पूरे अमेरिका में इस बीमारी के कारण लॉकडाउन नहीं लगाना चाहिए था।

अमेरिका के विख्यात बिजनेसमैन ने कहा कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार हो जाने के बाद भी वह वैक्सीन नहीं लगवाएंगे। उनका कहना है कि उन्हें और उनके परिवार को इस वैक्सीन की जरुरत नहीं है। फोब्र्स के अनुसार, स्पेसएक्स और टेस्ला के मालिक मस्क फिलहाल दुनिया के पांचवें सबसे अमीर व्यक्ति हैं और वैक्सीन को लेकर उनके बयान की अच्छी-खासी चर्चा हो रही है।

मस्क का कहना है कि उन्हें खतरा नहीं है। बता दें कि कोरोना के कारण जब अमेरिका में प्रतिबंध लगाया गया था, उस दौरान भी मस्क ने अपनी टेस्ला फैक्ट्री को खोलने का निर्णय लिया। मस्क ने कोरोना वायरस के कारण लागु की गई लॉकडाउन को भी अनैतिक बताया।

(PC: india.com)

रिपोर्ट के अनुसार कथित तौर पर मस्क ने ऐसे स्टाफ को नौकरी से निकाल दिया, जो महामारी के कारण ऑफिस आने में असुरक्षित अनुभव कर रहे थे। न्यूयोर्क टाइम्स के एक पोडकास्ट में मस्क ने कहा कि न तो वे वैक्सीन लगाएंगे और नहीं उनके बच्चे। इसकी वजह यह है कि उन्हें कोई खतरा नहीं दिख रहा। ऐलन मस्क ने पूरे अमेरिका में लॉकडाउन लागू करने के निर्णय को भयानक भूल बताया है। मस्क ने कहा कि पूरे देश में लॉकडाउन लागू करने के स्थान पर खतरायुक्त लोगों को क्वारंटाइन करना था।

इन्टरव्यु में जब मस्क को पूछा गया कि एक तरफ वे मानवता की बात करते हैं, अंतरिक्ष में खोज करने की योजना बनाते हैं और इको सिस्टम के लिए इको फ्रेन्डली कार तो दूसरी तरफ वे वैक्सीन नहीं लगाने से इंकार क्यों कर रहे हैं। मस्क ने जवाब देते हुए कहा कि सभी मरते हैं। यह योग्य तौर पर समझना चाहिए कि इससे भी अच्छा और क्या किया जाना चाहिए था, सिर्फ लॉकडाउन इसका समाधान नहीं था। एलन मस्क ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण उनका मानवता पर से भरोसा घट गया है। लोग तर्कहीन हो गए हैं।

बता दें कि अभी तक दुनियाभर में 10 लाख से अधिक लोगों का कोरोना से मौत हुआ है जबकि अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित देश है, जहां 2 लाख से भी अधिक लोगों की मौत कोरोना के कारण हुई है। मस्क शुरुआत से ही लोगों की गतिविधियों पर रोक लगाने को लेकर टिप्पणी कर चुके हैं। वे खुद भी सामान्य तौर पर काम कर रहे हैं। उनक ी कंपनी स्पेसएक्स ने एक बड़ी सफलता हासिल की है। स्पेसएक्स नासा के अंतरिक्ष यात्रियों को इन्टरनेशनल स्पेस स्टेशन पर भेजने और महामारी के बीच वापस लाने में सफल रही। मस्क ने स्थानीय लॉकडाउन के नियमों को नहीं माना तो कैलिफोर्निया में टेस्ला की फैक्ट्री खोलने का भी बचाव किया।

अमेरिका में कोरोना ने अधिक तबाही मचाई है। वहां के व्यापारी कह रहे हैं कि पूरे अमेरिका में इस बीमारी के कारण लॉकडाउन नहीं लगाना चाहिए था। अमेरिका के विख्यात बिजनेसमैन ने कहा कि कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार हो जाने के बाद भी वह वैक्सीन नहीं लगवाएंगे। उनका कहना है कि उन्हें और उनके

Related Articles