News Narmadanchal
एमबीए करके पाई बैंक की नौकरी, उसे छोड़ खेती करके कमाए लाखों रुपए!

एमबीए करके पाई बैंक की नौकरी, उसे छोड़ खेती करके कमाए लाखों रुपए!

आप ऐसे बहुत से लोगों को जानते होंगे जो बैंक या किसी अच्छी कंपनी में नौकरी पाने का सपना देख रहे हैं। इन जगहों पर नौकरी पाने के लिए काफी जद्दोजहद करते है। आज हम एक ऐसे युवक के बारे में बात की है, जिसने एमबीए की पढ़ाई करके बैंक में अच्छी नौकरी हासिल की, लेकिन फिर नौकरी छोड़ कर भी आज लाखों रुपये कमा रहा है। हम आपको बताएंगे कि वह युवक कौन है और वह कौन सा व्यवसाय कर रहा है।

(Photo Credit:youtube.com)

कहते है अगर आप कुछ करना चाहते हैं और कुछ हासिल करना चाहते हैं, तो आपको इसके लिए कड़ी मेहनत करनी होगी। एक व्यक्ति को कड़ी मेहनत के साथ अच्छे ज्ञान की आवश्यकता होती है। चिराग सेलडिया नामक एक युवक ने एमबीए की पढ़ाई की। पढ़ाई पूरा करने के बाद, चिराग एक अच्छे वेतन के साथ एक बैंक में काम कर रहा था। चिराग मूलतः जेतपुर तालुका के देवकी गलोल गांव का निवासी है। एक बैंक में काम करते हुए, चिराग को अपने गाँव में पारंपरिक खेती करने का विचार आया।

(Photo Credit:youtube.com)

इसके बाद चिराग ने अपनी बैंक की नौकरी छोड़ दी और अपने पिता के खेत को संभालने के लिए गाँव चले गए। चिराग ने खेती के साथ-साथ मार्केटिंग भी शुरू कर दी। एमबीए की डिग्री रखने वाले चिराग ने खेत में जाकर पारंपरिक खेती के बजाय गाय आधारित खेती शुरू की। चिराग ने पिछले चार साल से अपने खेत में रासायनिक खाद का इस्तेमाल नहीं किया है। वह अपने खेत में गोमूत्र और गोबर से बनी जैविक खाद का ही उपयोग करता है। चिराग ने सहजन से पाउडर और टैबलेट बना कर ऑनलाइन बेचना शुरू किया।

(Photo Credit:youtube.com)

चिराग अपने काम के बारे में बताते है, ”मैं पिछले चार साल से प्राकृतिक खेती कर रहा हूं। मैं इसमें मुख्यतः सहजन,सीताफल, हल्दी और चने उगाता हूं। मैंने पिछले चार वर्षों में अपने खेत में कभी भी रसायनों का छिड़काव नहीं किया है। मैं केवल एक एंटीसेप्टिक के रूप में हर्बल अर्क का उपयोग करता हूं, साथ ही गोमूत्र और गोबर से बना एक जीवाणुनाशक खाद ही डालता। इस वजह से मेरे खेत में केंचुए होना बहुत आम बात हैं।

(Photo Credit:youtube.com)
(Photo Credit:youtube.com)

मैं अपने उत्पाद को स्वयं ही बेचा करता हूं और मैंने पूरी प्रक्रिया को इस तरह से व्यवस्थित किया है कि उत्पाद सीधे ग्राहकों तक पहुंचे। ग्राहक मुझे ऑनलाइन पैसे भेजते है और ग्राहक को मेरा उत्पाद ऑनलाइन ही मिल जाता है। इस पद्धति से खेती करने के कारण मुझे पारंपरिक खेती करने के लिए 3 से 4 गुना अधिक लाभ मिलता है। मेरे द्वारा तैयार किए गए उत्पाद में सहजन पाउडर और टैबलेट एक प्रतिरक्षा बूस्टर के रूप में कार्य करता है। यही वजह है कि कोरोना में इसकी ज्यादा बिकी हुई है।

आप ऐसे बहुत से लोगों को जानते होंगे जो बैंक या किसी अच्छी कंपनी में नौकरी पाने का सपना देख रहे हैं। इन जगहों पर नौकरी पाने के लिए काफी जद्दोजहद करते है। आज हम एक ऐसे युवक के बारे में बात की है, जिसने एमबीए की पढ़ाई करके बैंक में अच्छी नौकरी हासिल की,

Related Articles