News Narmadanchal

कार में क्रिकेट सट्टा, दस करोड़ के दांव के साथ दबोचे गए सटोरिए

रायपुर. साइबर सेल पुलिस की टीम ने तेलीबांधा थाना क्षेत्र में रविवार को एक बड़े आईपीएल क्रिकेट सट्टा का भंडाफोड़ किया है। सट्टा संचालित करने वाले खाईवालों से पुलिस ने कमीशन के 56 हजार रुपए नकद समेत 10 करोड़ रुपए से ज्यादा के आईपीएल क्रिकेट सट्टे का खुलासा किया है। सटोरियों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम को टाटीबंध से तेलीबांधा तक मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने सटोरियों के कब्जे से कम्यूनिकेटर मशीन, मोबाइल, लैपटॉप सहित टीवी जब्त की है।

गौरतलब है, कोरोना संक्रमण रोकने प्रशासन जहां एक तरफ लॉकडाउन का सहारा ले रहा है। वहीं इस कोरोना संक्रमणकाल में शुरू हुए आईपीएल क्रिकेट मैच पर सटोरिए पुलिस की आंखों में धूल झोंकते हुए मोबाइल वैन से दांव लगवाने का काम कर रहे हैं। ऐसे ही एक मामले में पुलिस ने छह सटोरियों अविनाश दौलतानी, विजय परपयानी, नवीन चावला, निखिल गोविंदानी, उमेश राजवानी, अश्वनी माखीजा को चलती कार में आईपीएल क्रिकेट में दांव लगवाते गिरफ्तार किया है। क्रिकेट सट्टा का भंडाफोड़ एसएसपी अजय यादव के निर्देश पर एएसपी सिटी लखन पटले, एएसपी क्राइम अभिषेक महेश्वरी के नेतृत्व में साइबर सेल प्रभारी रमाकांत साहू तथा तेलीबांधा और साइबर सेल की टीम ने किया है।

इसलिए बढ़ा चलित सट्टा का प्रचलन

लॉकडाउन में होटल कारोबार पूरी तरह से बंद है। ऐसे में बड़े खाईवालों को होटल में कमरा नहीं मिल पा रहा है। साथ ही लोगों के घरों से बाहर नहीं निकलने की वजह से खाईवाल किराए की मकान लेने से बच रहे हैं। ऐसा करने पर वे पुलिस की शिकंजे में फंस सकते हैं। ऐसी स्थिति में खाईवाल हाईटेक तरीके से आईपीएल क्रिकेट सट्टा कार में चलते-फिरते संचालित कर रहे हैं।

एक साथ 17 लोग लगाते थे दांव

सटोरियों ने फास्ट सर्विस देने के लिए कार में कम्यूनिकेटर मशीन लगाई थी। कम्यूनिकेटर मशीन के माध्यम से एक साथ 17 लोग जीत-हार पर दांव लगा सकते हैं। इसमें दांव लगाने वाले व्यक्ति को किसी से बात करने की जरूरत नहीं पड़ती। कम्यूनिकेटर मशीन, कॉल रिकार्डर से लैस है। दांव लगाने वाला सटोरिया संबंधित टीम की जीत-हार को लेकर कितनी रकम लगानी है, इसका उल्लेख कर फोन काट देता है।

लेन-देन का ऑनलाइन ट्रांजेक्शन

प्रारंभिक पड़ताल में जो बातें सामने आई हैं, उसके मुताबिक सटोरियों ने कम्यूनिकेटर मशीन के माध्यम से कमीशन एजेंट तैयार किए थे। कमीशन एजेंटों को ही सटोरियों ने अपने अकाउंट में पहले से पैसा जमा कराकर नंबर दिया था। जीत-हार का फैसला आने पर कमीशन एजेंट दांव लगाने वालों को ऑनलाइन ट्रांजेक्शन के माध्यम से भुगतान कराते थे। इसी के साथ प्रमुख खाईवाल मैच समाप्त होने के बाद कमीशन एजेंटों को उनकी कमीशन की राशि ऑनलाइन ट्रांजेक्शन कर उन्हें भेजते थे।

साइबर सेल पुलिस की टीम ने तेलीबांधा थाना क्षेत्र में रविवार को एक बड़े आईपीएल क्रिकेट सट्टा का भंडाफोड़ किया है। सट्टा संचालित करने वाले खाईवालों से पुलिस ने कमीशन के 56 हजार रुपए नकद समेत 10 करोड़ रुपए से ज्यादा के आईपीएल क्रिकेट सट्टे का खुलासा किया है। सटोरियों को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम को टाटीबंध से तेलीबांधा तक मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने सटोरियों के कब्जे से कम्यूनिकेटर मशीन, मोबाइल, लैपटॉप सहित टीवी जब्त की है।

Related Articles