News Narmadanchal
कुरुक्षेत्र : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में मिला युवक का शव, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

कुरुक्षेत्र : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में मिला युवक का शव, परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

लाडवा। मृतक के परिजनों व रिश्तेदारों के समझाते डीएसपी व अन्य। मृतक की सागर की फाइल फोटो।

हरिभूमि न्यूज. लाडवा

लाडवा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में बुधवार को एक युवक का शव (Dead body) मिलने से जहां अस्पताल में दहशत फैल गई। वहीं मृतक के परिजनों ने मृतक के दोस्तों पर हत्या (Killing) का आरोप लगाया है। घटना की सूचना मिलते ही लाडवा पुलिस मौके पर पहुंच गई थी, लेकिन मृतक के परिजनों ने पुलिस को मृतक के शव को उठाने नहीं दिया।

परिजनों ने कहा कि जब तक मृतक के हत्यारों को पुलिस गिरफ्तार नहीं करती वह शव को नहीं उठने देंगे। देखते ही देखते अस्पताल में सैकड़ों की संख्या में युवा भी शामिल हो गए। डीएसपी भारत भूषण सहित लाडवा थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर राजपाल पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंची तथा परिजनों को समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन परिजन व रिश्तेदार टस से मस नहीं हुए और वह हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। करीब साढ़े पांच बजे के बाद मृतक के परिजन व रिश्तेदार पुलिस प्रशासन के आश्वासन के बाद मृतक के शव को उठाने के लिए तैयार हुए और पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए कुरुक्षेत्र भेज दिया गया।

मृतक के भाई राहुल निवासी घिलौर माजरी ने बताया कि तीन दिन पहले गूढ़ा निवासी अजय का जन्मदिन था। उसने फोन करके उसके भाई सागर को गूढ़ा मोड़ पर बुलाया था। पार्टी में सागर व अजय के साथ उसके दोस्त भी शामिल थे। उसने बताया कि पार्टी के दौरान अजय के दोस्तों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया, जिसमें एक युवक घायल हो गया था। उस समय उसका भाई वहां से चला गया था और दोबारा चार-पांच उसके दोस्त उसे कार में बिठाकर ले गए। उसके बाद घायल को वह लाडवा के सरकारी अस्पताल में लेकर आए थे, लेकिन उसके बाद से उसके भाई सागर का कुछ पता नहीं चल पाया है। बुधवार को पुलिस ने सूचना दी की एक युवक का शव लाडवा के सरकारी अस्पताल परिसर में पड़ा है आकर पहचान लो। जब वह लाडवा सरकारी अस्पताल में पहुंचे तो अस्पताल परिसर में आयुष विंग विभाग के पीछे पड़ा हुआ था।

परिजनों ने मृतक सागर के दोस्तों पर हत्या का आरोप

मृतक के भाई राहुल सहित उसके परिजनों व रिश्तेदारों ने मृतक सागर के दोस्तों पर हत्या का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि जब तक पुलिस हत्यारों को गिरफ्तार नहीं करती वह शव को नहीं उठाने देंगे। उन्होंने मृतक के गूढ़ा व छपरा निवासी उन दोस्तों पर आरोप लगाया है जो उस समय उनके साथ पार्टी में शामिल थे। परिजनों व रिश्तेदारों ने बाबैन पुलिस पर हत्यारों के साथ मिली भगत के गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने उनके भाई की तलाश करने की बजाए उनको ही अंदर करने की धमकी दी थी, जबकि उन्होंने अपने भाई की गुमशुदगी की शिकायत बाबैन पुलिस को दी थी। यदि पुलिस उस समय मामले की जांच करती तो आज उनका भाई जिंदा होता। मौके पर पुलिस प्रशासन व सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई।

परिजनों ने अस्पताल के दोनों गेट बंद की नारेबाजी

बुधवार को लाडवा के सरकारी अस्पताल में मृतक सागर का शव मिलने से परिजनों व रिश्तेदारों में रोष पनप गया। पुलिस प्रशासन की लापरवाही व मिलीभगत के गंभीर आरोप लगाते हुए जहां वह हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। वहीं उन्होंने लाडवा अस्पताल के दोनों गेटों व सड़क को बंद कर जमकर नारेबाजी भी की गई। रोष प्रकट करते हुए मृतक के भाई राहुल, अजय, अक्षय, बुध राम, श्याम लाल, गुलशन, नीरज, अनिल, मनीष आदि ने कहा कि पुलिस प्रशासन हत्यारों के साथ मिली हुई है। पुलिस प्रशासन ने उनके भाई की तलाश करने की बजाए उनके खिलाफ ही मामला दर्ज करने की धमकी दी गई। समाचार लिखे जाने तक मृतक के परिजन हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हुए थे और पुलिस के शव उठाने नहीं दिया गया था।

सीसीटीवी में कैद हुए युवक

जन्मदिन पार्टी के बाद आपस में हुए झगड़े में चोट लगे एक युवक को अस्पताल में लेकर पहुंचे सभी युवक अस्पताल में लगे सी.सी.टी.वी.कैमरे में कैद हो गए। कैमरे में करीब 6 युवक दिखाई दे रहे है, लेकिन मृतक युवक कैमरे में दिखाई नहीं दे रहा है। मौके पर खड़े परिजनों ने यह तो बताया कि यह वह सभी युवक है, जिन्होंने सागर की हत्या की, जबकि युवक सागर अस्पताल परिसर में ही मृतक पड़ा मिला है।

जल्द ही आरोपियों को काबू कर लिया जाएगा : डीएसपी

डीएसपी भारत भूषण ने बताया कि मृतक सागर के पिता जरनैल ङ्क्षसह की शिकायत पर 4 नामजद, जिसमें अशोक, हैप्पी, पंडित, राकेश सहित कई अन्य के खिलाफ विभिन्न धारों के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। जल्द ही आरोपियों को काबू कर लिया जाएगा। मृतक की मौत कैसे हुई इसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा। मामले में पाए जाने वाले किसी भी दोषी के बख्शा नहीं जाएगा। मृतक के परिजनों के पूरा इंसाफ दिलाया जाएगा।

मृतक के परिजन व रिश्तेदार पुलिस प्रशासन के आश्वासन के बाद मृतक के शव को उठाने के लिए तैयार हुए और पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए कुरुक्षेत्र भेज दिया गया।

Related Articles