News Narmadanchal
कोरोना काल में आबकारी विभाग ने बनाया रिकोर्ड, पहले छह माही में 660 करोड़ रुपये से अधिक की कलेक्शन

कोरोना काल में आबकारी विभाग ने बनाया रिकोर्ड, पहले छह माही में 660 करोड़ रुपये से अधिक की कलेक्शन

दुष्यंत चौटालादुष्यंत चौटाला

चंडीगढ़। कोरोना महामारी की वजह से देश के सामने आई वित्तीय चुनौतियों (challenges) के बीच हरियाणा की भाजपा-जेजेपी गठबंधन सरकार ने मिसाल पेश की है। विपरीत परिस्थितियों के बावजूद आबकारी विभाग ने बीते 6 महीने में टैक्स कलेक्शन में नया रिकॉर्ड कायम किया है। एक्साइज डिपार्टमेंट ने 2020-21 की नई एक्साइज पॉलिसी के तहत हुई कुल कलेक्शन के आंकड़े सार्वजनिक किए हैं।

आंकड़े काफी हैरान कर देने वाले और हरियाणावासियों के लिए सुखद हैं। मौजूदा आबकारी वर्ष की पहली छहमाही में आबकारी विभाग ने बीते वर्ष के मुकाबले 660 करोड़ रुपये अधिक राजस्व इकट्ठा किया है।आबकारी एवं कराधान मंत्री होने के नाते उपमुख्यमंत्री दुष्यंत सिंह चौटाला (Dushyant Singh Chautala) ने मार्च में नई एक्साइज पॉलिसी जारी कर दी थी लेकिन 23 मार्च से लॉकडाउन शुरू होने की वजह से नई नीति वक्त पर लागू नहीं हो पाई।

आमतौर पर पुरानी नीति वित्तीय वर्ष के आखिर यानी 31 मार्च तक के लिए चलती है और पहली अप्रैल से नई नीति लागू होती है। इस बार नई नीति 6 मई से शुरू हुई। विभाग ने पहले क्वार्टर यानी 6 मई से लेकर 19 अगस्त और दूसरे क्वार्टर यानी 19 अगस्त से लेकर 18 नवंबर तक के आंकड़े सार्वजनिक किए हैं।

छह महीनों – 6 मई से लेकर 18 नवंबर तक की अवधि में विभाग ने पिछले वर्ष के छह महीनों के मुकाबले 660 करोड़ रुपये राजस्व इकट्ठा किया है। माना जा रहा है कि आबकारी विभाग नई पॉलिसी में रखे गए 7500 करोड़ रुपये राजस्व जुटाने के टारगेट को तो पूरा करेगा ही, बल्कि इस बार लगभग 25 प्रतिशत अधिक राजस्व जुटाया जा सकता है। कोरोना काल में इसे अच्छा संकेत माना जा सकता है।

सिस्टम को फूलप्रूफ बनाने का मिल रहा है फायदा – डिप्टी सीएम

राज्य की गठबंधन सरकार ने एक्साइज पॉलिसी में ऐसे प्रावधान किए कि टैक्स की चोरी भी रुके और प्रदेश में अवैध शराब की बिक्री भी न हो। हमने पड़ोसी राज्यों से अवैध शराब आने के रास्ते बंद किए हैं और डिस्टलरी से लेकर उपभोक्ता तक हर बोतल के पहुंचने के सिस्टम को फूलप्रूफ बनाया है। – दुष्यंत चौटाला, डिप्टी सीएम

मौजूदा आबकारी वर्ष की पहली छहमाही में आबकारी विभाग
(Excise Department) ने बीते वर्ष के मुकाबले 660 करोड़ रुपये अधिक राजस्व इकट्ठा किया है।

Related Articles