News Narmadanchal
कोरोना की दूसरी लहर रोकने सीमा पर ही होगी बाहर से आने वालों की जांच

कोरोना की दूसरी लहर रोकने सीमा पर ही होगी बाहर से आने वालों की जांच

रायपुर. देश के अन्य राज्यों में आ चुकी कोरोना की दूसरी लहर की तरह स्थिति प्रदेश में निर्मित न हो, इसके लिए अभी से कवायद शुरू हो गई है। प्रदेश के सबसे अधिक आवागमन वाले जिले रायपुर में बाहर से आने वाले व्यक्तियों की कोराेना जांच होगी। रायपुर जिले की सीमाओं में चेक पाइंट बनाए जाएंगे। चारों दिशाओं में ये पाइंट बनाए जाएंगे। यहां एंटीजन टेस्ट होगा। जिले की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. मीरा बघेल द्वारा जिला प्रशासन को इस संदर्भ में प्रस्ताव भेजा गया है।

जांच के दौरान यदि दूसरे जिलों से आने वाले व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उनके जिलों के अधिकारियों को सूचित कर इलाज की व्यवस्था की जाएगी। कोरोना संक्रमितों को सुविधानुसार होम आइसोलेशन में रखा जाएगा अथवा कोविड अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। यदि बाहर से आने वाला व्यक्ति रायपुर का ही निवासी हुआ तो उसके उपचार की व्यवस्था राजधानी में ही की जाएगी।

बढ़ा आवागमन

राेड के जरिए राजधानी में प्रवेश करने वालों के साथ ही हवाई यात्रा अथवा रेलयात्रा के माध्यम से आने वाले लोगों की भी जांच की व्यवस्था करने कोशिश की जा रही है। जिला चिकित्सा कार्यालय का कहना है कि प्रदेश के अन्य जिलाें की तुलना में रायपुर में आवागमन अधिक है। न सिर्फ छत्तीसगढ़ के दूसरे जिले, बल्कि अन्य राज्यों के लोग भी बड़ी संख्या में रायपुर आते हैं। लॉकडाउन हटने के बाद व्यापार सहित अन्य गतिविधियां बढ़ी हैं। कुछ माह पूर्व राजधानी में प्रतिदिन हजार से भी अधिक मामले सामने आ रहे थे। दोबारा इस तरह की स्थिति न बने और लॉकडाउन न करना पड़े, इसलिए अभी से हर स्तर पर कोशिश की जा रही है।

एयरपोर्ट पर भी जांच

एयरपोर्ट और रेलवे स्टेशन पर भी कोशिश कर रहे हैं कि बाहर से आने वाले व्यक्तियों की जांच की जाए। हालांकि यह लोगों के सहयोग के बगैर मुश्किल है। फिर भी हम अपने स्तर पर डटे हुए हैं।

– डॉ. मीरा बघेल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, रायपुर

कोरोना ने फिर पकड़ी रफ्तार प्रदेश में 2149 नए केस

दीपावली त्योहार के बाद कोरोना टेस्ट में तेजी आने के साथ ही नए मामलों में भी वृद्धि होने लगी है। गुरुवार को 31 हजार 578 लोगों का कोरोना टेस्ट किया गया। नए प्रकरण 2149 दर्ज हुए हैं। होम आइसोलेशन से 1177 तथा हॉस्पिटल से 146 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे। कुल मिलाकर 1323 मरीज डिस्चार्ज हुए। प्रदेश में अब तक कोरोना के 2 लाख 17 हजार 562 केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 1 लाख 95 हजार 469 ठीक हो चुके हैं। जबकि 19 हजार 421 मरीज अब भी संक्रमित हैं। गुरुवार को 14 मौतें कोरोना के चलते हुई हैं। इनमें से 2 को सिर्फ कोरोना की ही शिकायत थी। शेष 12 को कोरोना के साथ ही स्वास्थ्य संबंधित अन्य समस्याएं भी थीं। प्रदेश में अब तक 2672 लोगों की मौत कोरोना के कारण हो चुकी है।

रायपुर में 248 मामले

रायगढ़-254, रायपुर-248, जांजगीर-चांपा-208, राजनांदगांव- 194, कोरबा-179, दुर्ग-136, बिलासपुर-101, बालोद और धमतरी में 89-89, महासमुंद-81, सरगुजा-72, सूरजपुर-62, बलौदाबाजार-57, काेंडागांव-41, दंतेवाड़ा-37, बेमेतरा-36, जशपुर व कोरिया-35-35, कबीरधाम-32, गरियाबंद-29, मुंगेली-26, बस्तर-25, बलरामपुर-23, कांकेर-21, बीजापुर-14, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही-13, सुकमा-7 व नारायणपुर में 3 नए केस के साथ पंजीकृत हुए।

 

प्रदेश में सर्वाधिक आवागमन रायपुर जिले में ही, दोबारा न हो लॉकडाउन इसलिए सावधानी

Related Articles