News Narmadanchal
गुजरात : जानें राज्य में कहां एग्रो फॉरेस्ट्री टूर आयोजित किया गया

गुजरात : जानें राज्य में कहां एग्रो फॉरेस्ट्री टूर आयोजित किया गया

प्रकृति को जानने एवं आनंद लेने के साथ आसपास के क्षेत्रों के 40 प्रकृति प्रेमी शामिल हुए

गुजरात में पहली बार सामाजिक वानिकी विभाग, भरुच सर्कल और प्रकृति प्रेमी दिगेन पटेल और नरेंद्रभाई पटेल, सूरत जिले के कामरेज तालुका में मोरथाणा कुंवरबा की वाडी स्थित ं वन संरक्षक डॉ. शशि कुमार (आईएफएस) की उपस्थिति में एक ‘एग्रो फॉरेस्ट्री टूरÓ आयोजित किया गया।

पूरे दिन में आठ किलोमीटर लंबे ‘एग्रो वॉक Ó में 40 प्रकृति-प्रेमी किसानों, युवाओं, डॉक्टरों और महिलाओं ने भाग लेकर हाइड्रोपोनिक्स गौ आधारित प्राकृतिक खेती औषधीय वनस्पतियों, काउ कडलिंग,चंदन एवं निलगिरी की खेती, फ्रुट फारेस्ट, एग्रो फारेस्ट्री, ग्रामीण जीवन शैली, किचन गार्डन जैसे विभिन्न पहलुओं पर गहन ज्ञान और मार्गदर्शन प्राप्त किया। चंदन की खेती के लाभों को उजागर करने के लिए जैविक खेती का आयोजन किया गया था।

इस अवसर पर यात्रा में भाग लेने वाले प्रकृति प्रेमियों का मार्गदर्शन करते हुए, डॉ. शशिकुमार ने कहा कि सूरत जिले में राज्य में पहला एग्रो फॉरेस्ट्री टूर आयोजित किया गया है। इसका उद्देश्य कृषि वानिकी के बारे में समुचित ज्ञान के साथ युवाओं को प्रगतिशील किसानों के साथ-साथ महिलाओं को भी क्षेत्र में अपनी शुरुआत करना है। पारंपरिक खेती के तरीकों के साथ-साथ सब्जी की कटाई, ग्रामीण जीवन शैली, मिट्टी के प्रकार के बारे में प्रत्यक्षदर्शी जानकारी प्रदान की जाती है। दौरे के दौरान प्रकृति के आसपास भोजन के आनंद के साथ खेल भी खेले गए। डिसकनेक्ट टू कनेक्ट, डिजिटल डिटॉक्स जैसी अभिनव पहलों से ज्ञान को बढ़ाया गया। कृषि के साथ-साथ कृषि-वानिकी में जल प्रबंधन का महत्व आवश्यक है, ताकि लोगों को कम पानी से अधिक उत्पादन प्राप्त करने के तरीकों के बारे में जागरूक किया जा सके।

इस अवसर पर सूरत सामाजिक वानिकी विभाग के डी.एफ.ओ. एमएस कटारा, कामरेज के आर.एफ .ओ. पंकज चौधरी, बारडोली के आर.एफ.ओ. भावेशभाई रादडिया, नरेंद्रभाई पटेल (भीखाभाई), मोठाना गाँव के अग्रणी प्रगतिशील किसान, वनपाल सर्वश्री एबी चौधरी, नरेन्द्र कंथारिया, पीबी हडिया, डॉ. आशाबेन सहित सामाजिक वानिकी विभाग के अधिक ारी और प्रकृति प्रेमी उपस्थित थे।

प्रकृति को जानने एवं आनंद लेने के साथ आसपास के क्षेत्रों के 40 प्रकृति प्रेमी शामिल हुए गुजरात में पहली बार सामाजिक वानिकी विभाग, भरुच सर्कल और प्रकृति प्रेमी दिगेन पटेल और नरेंद्रभाई पटेल, सूरत जिले के कामरेज तालुका में मोरथाणा कुंवरबा की वाडी स्थित ं वन संरक्षक डॉ. शशि कुमार (आईएफएस) की उपस्थिति में एक

Related Articles