News Narmadanchal
चूहे कुतर गये रेलयात्री की लाश, GRP के खिलाफ परिजनों ने की शिकायत

चूहे कुतर गये रेलयात्री की लाश, GRP के खिलाफ परिजनों ने की शिकायत

होशंगाबाद। शवों के साथ लापहरवाही बरतने का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। ऐसा ही मामला भोपाल मंडल के इटारसी जीआरपी से सामने आया है, जहां पर सफ़र करते एक युवक की मौत हो गई इसके बाद जीआरपी ने शव को एक झोपड़ी में रख दिया गया। रात में चूहों ने मृतक की आँखों को कुतर दिया। सूचना मिलने पर युवक का शव लेने उसके परिजन पहुंचे और पीएम के बाद परिजन शव को आगरा ले गए। वहां परिजनों ने जीआरपी की लाश रखने में लापरवाही की शिकायत की है।

घटना गुरूवार रात की है, जहां आगरा निवासी युवक कर्नाटक एक्सप्रेस से आगरा जा रहा था। रास्ते में उसकी मौत हो गई। जीआरपी ने शव को उतार कर खुले चबूतरे पर झोपड़ी में रख दिया था। परिजनों को जीआरपी ने देर रात सूचना दी थी, तब परिजनों को सही सलामत फ़ोटो भेजी गई थी लेकिन सुबह परिजनों ने शव को देखा तो मृतक की आँखें चूहे कुतर चुके थे। रातभर ध्यान नहीं देने से चूहों ने युवक की दोनों आंखें कुतर डाली। पीएम के बाद परिजन शव को आगरा ले गए, वहां परिजन ने जीआरपी की लाश रखने में लापरवाही की शिकायत की है।

जीआरपी के अनुसार, गुरुवार रात बेंगुलरु से नई दिल्ली जा रही कर्नाटक एक्सप्रेस के एस 9 कोच की बर्थ नंबर 17 पर जितेंद्र सिंह (33 साल) पुत्र भीकम सिंह निवासी नागला ताज थाना बरहान आगरा अचेत अवस्था में मिले थे। ट्रेन रात 9:30 बजे ट्रेन प्लेटफार्म 1 पर आई थी। डॉक्टर्स ने जांच के बाद युवक को मृत घोषित कर दिया, जिसके बाद शव को जीआरपी परिसर के सामने ही बने झोपड़ी के अंदर कच्चे चबूतरे पर रख दिया गया था, जो शुक्रवार दोपहर तक 2 बजे तक रखा रहा। इस दौरान जीआरपी चौकी ने शव की सुरक्षा के लिए चौकीदार भी लगाए गए थे, लेकिन किसी ने शव को देखने की कोशिश भी नहीं की।

जीआरपी एएसआई लाल पडरिया ने बताया कि- ‘इटारसी स्टेशन से सैकड़ों की संख्या में ट्रेनों का आवागमन होता है, लेकिन इटारसी जीआरपी के पास शवों को रखने के लिए अलग से व्यवस्थाएं नहीं है और कई दफा ट्रेन में लोगों की यात्रा के दौरान मौत हो जाती है, जिसके बाद जीआरपी शवों को खुले में ही रख देती है।’

शव को एक झोपड़ी में रख दिया गया, पीएम के बाद शव को आगरा ले गए परिजन। पढ़िए पूरी खबर-[#item_full_content]

Related Articles