News Narmadanchal

छात्रों को मानसिक रूप से मजबूत बनाने कवायद, पहली से 12वीं कक्षा तक की जाएगी काउंसिलिंग

सीबीएसई बोर्ड (प्रतीकात्मक फोटो)सीबीएसई बोर्ड (प्रतीकात्मक फोटो)

रायपुर. सीबीएसई ने स्कूली छात्र-छात्राओं के लिए मेंटल हेल्थ मैनुअल जारी किया है। इसके तहत छात्रों को मानसिक स्तर पर मजबूत किया जाएगा। इसमें पहली कक्षा से 12वीं तक के विद्यार्थी शामिल होंगे। इसमें मेंटल हेल्थ से जुड़े दस चैप्टर बनाए गए हैं। इसमें छात्रों की अलग-अलग तरीके से मानसिक स्तर पर काउंसलिंग की जाएगी। इसमें छात्रों को स्कूल स्तर पर मेंटल हेल्थ की जानकारी दी जाएगी। स्कूल में इसके लिए स्पेशल एजुकेटर रखे जाएगे। इसमें छात्रों को कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए मानसिक स्तर सपोर्ट किया जाएगा।

छात्रों को बायोलॉजिकल, साइकोलॉजिकल काउंसिलिंग करवाई जाएगी। बोर्ड ने सभी स्कूलों को मेंटल हेल्थ मैनुअल भेज दिए हैं। लॉकडाउन में छात्रों को हुई मानसिक स्वास्थ्य संबंधी परेशानी को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। छात्र किसी भी बीमारी, आपदा अथवा बीमारी का सामना मानसिक रूप से करने के लिए तैयार हो सकें, इस पर फोकस किया जाएगा।

चेहरा दिखाकर मार्कशीट

सीबीएसई के 10वीं और 12वीं के विद्यार्थी अपना चेहरा दिखाकर भी डिजिलॉकर से सर्टिफिकेट और मार्कशीट निकलवा सकते हैं। इसके लिए बोर्ड ने फेशियल रिकॉगनिशन सिस्टम शुरू किया है। इसकी सहायता से छात्र बिना मोबाइल व आधार नंबर से भी अपना सर्टिफिकेट और मार्कशीट डिजिलॉकर से डाउनलोड कर सकते हैं। डिजिलॉकर में मौजूद डेटाबेस के डिजिटल इमेज से छात्र का चेहरा मैच होने पर कंप्यूटर उसे सर्टिफिकेट डाउनलोड करने की सहूलियत देगा। देशभर से 12 करोड़ से अधिक दसवीं और 12वीं के विद्यार्थी का मार्कशीट, प्रवेश पत्र, सर्टिफिकेट डिजिलॉकर में रखे हुए हैं। 

ऐसे करेगा काम

इस सिस्टम के माध्यम से अगर छात्र डिजिलॉकर का अपना पासवर्ड या मोबाइल नंबर भूल भी जाते हैं तो उन्हें दिक्कत नहीं होगी। छात्र इस सिस्टम में अपना चेहरा दिखाएंगे। सिस्टम छात्र के चेहरे को एडमिट कार्ड के फोटो से तुरंत मिलान कर लेगा। इसके बाद छात्र अपना डिजिलॉकर खोल पाएंगे। कई बार छात्र अपना डिजिलॉकर का पासवर्ड भूल जाते हैं। इससे छात्र डिजिलॉकर का इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। इस कारण बोर्ड ने इसकी शुरुआत की है। इस सुविधा का लाभ देश-विदेश में रहने वाला कोई भी छात्र ले सकता है।

सीबीएसई ने स्कूली छात्र-छात्राओं के लिए मेंटल हेल्थ मैनुअल जारी किया है। इसके तहत छात्रों को मानसिक स्तर पर मजबूत किया जाएगा। इसमें पहली कक्षा से 12वीं तक के विद्यार्थी शामिल होंगे। इसमें मेंटल हेल्थ से जुड़े दस चैप्टर बनाए गए हैं। इसमें छात्रों की अलग-अलग तरीके से मानसिक स्तर पर काउंसलिंग की जाएगी। इसमें छात्रों को स्कूल स्तर पर मेंटल हेल्थ की जानकारी दी जाएगी। स्कूल में इसके लिए स्पेशल एजुकेटर रखे जाएगे। इसमें छात्रों को कोविड-19 संक्रमण से बचने के लिए मानसिक स्तर सपोर्ट किया जाएगा।

Related Articles