News Narmadanchal
झोलाछाप डॉक्टर की करतूत : गलत इंजेक्शन के कारण जिंदगी और मौत के बीच झूल रही मासूम

झोलाछाप डॉक्टर की करतूत : गलत इंजेक्शन के कारण जिंदगी और मौत के बीच झूल रही मासूम

• चार महीने की मासूम बच्ची को बुखार आने पर झोलाछाप डॉक्टर ने लगाया गलत इंजेक्शन

• संक्रमण फैलने से कमर से नीचे और और पिछला हिस्सा हाथ पैर की उंगलियां काली पड़ गई

• विदिशा जिले में 1 महीने में यह दूसरा मामला सामने आया है

विदिशा। मध्यप्रदेश के विदिशा जिले की तहसील शमशाबाद से मन को वेदना और दिल को कष्ट पहुंचाने वाली खबर आ रही है जहां 1 गांव की 4 साल की मासूम आज जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है। वजह है झोलाछाप डॉक्टर की करतूत, जिसके गलत इंजेक्शन लगाने से बच्ची का शरीर काला पड़ चुका है। इसके बाद बच्ची को भोपाल रेफर किया गया है। बच्ची को देखने वाले डॉक्टर कहते हैं कि इसके हाथ भी काटना पड़ेंगे।

जिले की शमशाबाद तहसील के एक छोटे से ग्राम गोलना की यह 4 माह की मासूम बच्ची जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है और इसका कारण कोई और नहीं झोलाछाप डॉक्टर है, जिसकी फर्जी डिग्रियों और पैसे की चाह ने इस मासूम को जिंदगी और मौत के बीच दोराहे पर खड़ा कर दिया है।

बच्ची के परिजनों ने कलेक्टर को भेजे गये शिकायत में कहा है कि- वह बहुत गरीब लोग हैं और उनकी बच्ची को बुखार आया था तब यह लोग उसे दिखाने गांव के ही एक झोलाछाप डॉक्टर को दिखाने पहुंचे डॉक्टर ने फौरन बच्ची को एक इंजेक्शन लगा दिया। उसके बाद बच्ची का पूरा शरीर लाल पड़ चुका है उसके पीठ के निचले भाग से खून रिस रहा है जगह जगह घाव बन चुके हैं और पिछला हिस्सा पूरा काला पड़ चुका है यहां तक की मासूम बच्ची के हाथ की उंगलियां काली पड़ चुकी हैं। यह सब गलत इंजेक्शन लगाने से हुए रिएक्शन के बाद बच्ची कष्ट और वेदना से तड़प रही है।

बच्ची की स्थिति देखकर उसे भोपाल रेफर किया गया है। वहां के डॉक्टरों के मुताबिक शरीर में रिएक्शन बढ़ने से उसके हाथ भी काटे जा सकते हैं। विदिशा जिले का यह पहला मामला नहीं है ऐसे ही एक मामले में एक मासूम गलत इंजेक्शन के रिएक्शन से मौत की आगोश में समा चुका था।

डा.केएस अहिरवार, सीएमएचओ, विदिशा- ‘यह मामला हमारे संज्ञान में आया है, जांच कराएंगे, पिछले एक मामले में भी जांच कराई जा रही है और जो दोषी होंगे उन पर कार्रवाई की जाएगी।’ 

डॉक्टरों का कहना है 4 महीने की बच्ची की उंगलियां काटनी पड़ेगी। पढ़िए पूरी खबर-[#item_full_content]

Related Articles