News Narmadanchal
दिवाली पर शराबियों का धमाका, पी गए 7 करोड़ की शराब

दिवाली पर शराबियों का धमाका, पी गए 7 करोड़ की शराब

रायपुर. दिवाली के सीजन में भले ही दूसरे कारोबार में मंदी का असर पड़ा हो, लेकिन लिकर के मामले में आबकारी विभाग को राजस्व का तगड़ा मुनाफा हुआ है। इसका अंदाजा प्रदेश की राजधानी से लगाया जा सकता है, जहां पर शराब बिक्री में नया रिकार्ड बना है। दिवाली सीजन में लक्ष्मी पूजा और उसके दूसरे दिन के कारोबार में 7 करोड़ रुपए तक की शराब बिक्री हुई है। सामान्य दिनों में औसतन 2.50 से 3 करोड़ रुपए तक की बिक्री होने के बाद त्योहारी सीजन में यह नया रिकार्ड है।

होली के समय में शराब बिक्री का ग्राफ अब तक ऊपर था, लेकिन इस दिवाली शौकीनों की भीड़ ने पुराने रिकार्ड ध्वस्त करते हुए नया रिकार्ड बनाया है। आबकारी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक लॉकडाउन और फिर मंदी के दौर में शराब बिक्री की स्थिति उम्मीद से कहीं ज्यादा है। मार्च महीने के बाद प्रदेश में लॉकडाउन के आदेश के बाद से कई दिनों तक वाइन शॉप बंद रखे गए थे। इस साल के वित्तीय वर्ष में राजस्व प्राप्ति के लक्ष्य पर सीधा असर पड़ा। विभाग ने पिछले वर्ष 5 हजार करोड़ रुपए की शराब बिक्री की थी, जिसके बाद 2020 के लिए 6 हजार करोड़ रुपए तक का लक्ष्य रखा गया। लॉकडाउन में छाई मंदी की वजह से लक्ष्य से पिछड़ गए। दुकानें खुलने के बाद एक दो दिन शौकीनों की भीड़ उमड़ी, लेकिन बाद में कारोबार फिर से लुढ़क गया। अफसरों का कहना है दिवाली के सीजन में शराब की फिर से डिमांड बढ़ी।

ऑनलाइन सिस्टम पर फोकस, बेहतर करने दिए निर्देश

शराब बिक्री के लिए बनाए गए ऑनलाइन सिस्टम को प्रमोट करने कहा जा रहा है। आबकारी कमिश्नर निरंजन दास ने बैठक लेकर ऑनलाइन सिस्टम को और बेहतर करने निर्देश दिए हैं। कहा जा रहा है ऑनलाइन शराब की डिमांड बढ़ने के हिसाब से उन जिलों में दुकानों की संख्या में कटौती की जा सकती है। रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग जैसे बड़े शहरों में पहले प्रयोग हो सकता है।

दुकान फिर हो सकते हैं रिप्लेस

रायपुरा शराब दुकान में भीड़ की वजह से माहौल बिगड़ने की शिकायत के बाद जिला आबकारी ने दुकान कहीं और शिफ्ट करने का निर्णय लिया है। एक करीबी अफसर के मुताबिक नए टेंडर के साथ में इस दुकान को अन्यत्र संचालित करने पर सहमति बन गई है। संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने दुकान में बदइंतजामी की वजह से अफसरों को लताड़ा था। अब बाकी ऐसे दुकान, जहां ट्रैफिक जाम के हालात बन रहे, दुकानों की शिफ्टिंग के लिए भी जोर दिया जा रहा है।

छोटी दिवाली तक तगड़ा कारोबार

आबकारी विभाग के राजस्व में खासी बढ़ोतरी हुई है। दिवाली में शराब की रिकार्ड बिक्री के बाद देवउठनी-एकादशी में भी शौकीनों की भीड़ उमड़ने की उम्मीद है। छोटी दिवाली के रूप में मनाए जाने वाले इस त्योहार में देहात की दुकानों में तगड़ा कारोबार होने का अनुमान है। गांवों से लगे दुकानों में अभी से स्टॉक की भरपाई के लिए कवायद तेज है। ज्यादातर दुकानों से लोवर ब्रांड की शराब की भारी डिमांड है।

दिवाली के सीजन में भले ही दूसरे कारोबार में मंदी का असर पड़ा हो, लेकिन लिकर के मामले में आबकारी विभाग को राजस्व का तगड़ा मुनाफा हुआ है। इसका अंदाजा प्रदेश की राजधानी से लगाया जा सकता है, जहां पर शराब बिक्री में नया रिकार्ड बना है। दिवाली सीजन में लक्ष्मी पूजा और उसके दूसरे दिन के कारोबार में 7 करोड़ रुपए तक की शराब बिक्री हुई है। सामान्य दिनों में औसतन 2.50 से 3 करोड़ रुपए तक की बिक्री होने के बाद त्योहारी सीजन में यह नया रिकार्ड है।

Related Articles