News Narmadanchal
दुनिया का सबसे बड़ा वर्चुअल टेक्सटाईल फेयर आयोजन करेगा भारत

दुनिया का सबसे बड़ा वर्चुअल टेक्सटाईल फेयर आयोजन करेगा भारत

देश और दुनिया आज कोरोना की महामारी के साथ अर्थव्यवस्था के साथ भी लड़ रहे हैं। देश भर में जहां लोकडाउन के चलते व्यापार ठप्प हो गया था। अब अनलॉक के बाद उसमे थोडा सा सुधार आया है। ऐसे में अर्थव्यवस्था को तेज़ी देने के प्रयास स्वरूप भारत एक वर्चुअल फेयर का आयोजन करने जा रहा है।

सबसे बड़े फेयर के लिए सरकार कर रही है भारतीय मंच की तलाश

इकोनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर के लगभग 5,000 विक्रेताओं और 30,000 खरीदारों के साथ भारत दुनिया के सबसे बड़े वर्चुअल फेयर का आयोजन करने जा रहा है। कपड़ा सचिव रवि कपूर ने बुधवार को कहा कि सरकार टेक्सटाइल इंडिया फेयर की योजना बना रही है और इसके लिए भारतीय प्लेटफॉर्म की तलाश कर रही है। कपूर ने कहा, “भारत टेक्सटाइल इंडिया फेयर की योजना बना रहा है। हम दुनिया के 4,000-5,000 सेलर्स और 25,000-30,000 खरीदारों के साथ दुनिया का सबसे बड़ा वर्चुअल फेयर आयोजित करने का आयोजन करने की योजना बना रहे है, जिसके लिए सरकार एक भारतीय मंच की तलाश कर रही है।

आगे बात करते हुए उन्होंने कहा कि भारत में परिधान, घरेलू सामान और कपड़ा क्षेत्र में दो साल में निर्यात दोगुना होने की संभावना है। इसके लिए उद्योग को जापान, सीआईएस और लैटिन अमेरिका जैसे नए बाजारों में देश के निर्यात का विस्तार करने के लिए एक विशाल आउटरीच कार्यक्रम की योजना बनानी होगी।

बढ़ाने होंगे नए बाजार : रवि कपूर

कपूर ने बताया कि, हमारे निर्यात का 80% 5-6 बाजारों में जाता है और हम कुछ बाजारों पर ध्यान केंद्रित करते हैं, जो अच्छा है लेकिन हमें नए बाजारों में विस्तार करने की आवश्यकता है। भारतीय कपड़ा क्षेत्र के लिए ऑर्डर आ रहे हैं। बस अब यह देखना है की उद्योग किस तरह इन ऑर्डरों की आपूर्ति करता है।

उल्लेखनीय है कि, अप्रैल से अगस्त के बीच की अवधि में, भारत में सूती धागे, कपड़े, बने-बनाए उत्पादों, हथकरघा उत्पादों, मानव निर्मित धागों, कपड़ों और बने-बनाए कपड़ों, रेडीमेड कपड़ों, जूट उत्पादों, हस्तशिल्प और कालीनों का निर्यात 8.7 अरब डॉलर था।

देश और दुनिया आज कोरोना की महामारी के साथ अर्थव्यवस्था के साथ भी लड़ रहे हैं। देश भर में जहां लोकडाउन के चलते व्यापार ठप्प हो गया था। अब अनलॉक के बाद उसमे थोडा सा सुधार आया है। ऐसे में अर्थव्यवस्था को तेज़ी देने के प्रयास स्वरूप भारत एक वर्चुअल फेयर का आयोजन करने जा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *