News Narmadanchal
निजी बस संचालक ने दिखाई दंबगई, खाकी के सामने ही कर दी रोडवेज डिपो प्रधान सहित एक अन्य की धुनाई, पढ़ें आगे

निजी बस संचालक ने दिखाई दंबगई, खाकी के सामने ही कर दी रोडवेज डिपो प्रधान सहित एक अन्य की धुनाई, पढ़ें आगे

हरिभूमि न्यूज. झज्जर।  बस स्टैंड पर काउंटर फीस कटवाने को लेकर हुआ विवाद इतना बढ़ गया कि एक निजी बस संचालक ने बाहरी व्यक्तियों को बुलाकर रोडवेज कर्मचारियों पर हमला कर दिया। जिसके चलते दो रोडवेज कर्मचारियों को गंभीर चोटें लगी, जबकि तीन अन्य भी घायल (Injured) हो गए। गंभीर रूप से घायल हुए कर्मचारियों को उपचार के लिए पीजीआई रोहतक रैफर कर दिया गया।

बाद में आक्रोशित रोडवेज कर्मचारियों ने झज्जर डिपो को बंद कर दिया और बस स्टैंड परिसर में धरना शुरू कर दिया। रोडवेज कर्मचारियों ने नारेबाजी करते हुए आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी करने की मांग की है। झज्जर डिपो के प्रधान रामबीर (Rambir) ने बताया कि उक्त निजी बस संचालक ने मार्च माह से बस स्टैंड की काउंटर फीस जमा नहीं करवाई गई थी। शुक्रवार को जब काउंटर फीस जमा करवाने के लिए कहा गया तो निजी बस संचालक रोडवेज कर्मचारियों से उलझ गया और देख लेने की धमकी दी।

जिसकी सूचना पुलिस को दी गई। रामबीर ने बताया कि जब वह बस स्टेंड परिसर में तैनात पुलिसकर्मी को साथ में लेकर मामले की लिखित में शिकायत थाने में देने जा रहे थे, इसी दौरान बीच रास्ते चार-पांच गाड़ियों में आए बदमाशों ने उनकी गाड़ी को घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी। मारपीट में दो कर्मचारियों को गंभीर चोटें लगी है। मारपीट में विनोद को मुंह पर और इंद्रजीत (Inderjeet) के सिर में गंभीर चोटें लगी है।

बाद में अन्य साथियों व राहगीरों द्वारा बीच-बचाव करते हुए उन्हें छुड़वाया। रामबीर ने आरोप लगाया कि एक व्यक्ति ने उस पर पिस्तौल तान दी और दस से पंद्रह लोगों ने उसको दबोच कर मारपीट की। घटना के आक्रोशित रोडवेज कर्मचारियों ने बस स्टेंड के मेन गेट पर बस खड़ा कर बंद कर दिया और बस स्टेंड परिसर में धरना शुरू कर दिया।

डिपो प्रधान रामबीर ने बताया कि आरोपितों की जल्द गिरफ्तारी नहीं होती है तो आंदोलन तेज किया जाएगा। उधर, मामले की सूचना मिलने पर सुरक्षा के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल बस स्टेंड परिसर में तैनात कर दिया गया।

डिपो प्रधान रामबीर (Rambir) ने बताया कि जब वह बस स्टेंड परिसर में तैनात पुलिसकर्मी को साथ में लेकर मामले की लिखित में शिकायत थाने में देने जा रहे थे, इसी दौरान बीच रास्ते चार-पांच गाड़ियों में आए बदमाशों (Punks) ने उनकी गाड़ी को घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी।

Related Articles