News Narmadanchal
बदल रहा है ह्यूमन बॉडी का नॉर्मल टेंप्रेचर

बदल रहा है ह्यूमन बॉडी का नॉर्मल टेंप्रेचर

अभी तक हम इंसानों के शरीर का मेडिकली नॉर्मल स्टेंडर्ड टेंप्रेचर 98.6 डिग्री फॉरेनहाइट या 37 डिग्री सेल्सियस माना जाता है और इससे ज्यादा होना बुखार के लक्षणों में शामिल होता है। लेकिन अब इस नॉर्मल टेंप्रेचर में बदलाव होने के संकेत मिलने लगे हैं।

ब्रिटेन में लगभग 35 हजार लोगों पर 2017 में बॉडी टेंप्रेचर को लेकर किए गए अध्ययन में तापमान, स्टेंडर्ड से कम औसत 97.9 डिग्री पाया गया। वहीं, अमेरिका के लोगों का औसत तापमान 97.5 डिग्री फॉरेनहाइट बताया गया था। कई देशों के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए इस अध्ययन को ‘साइंस’ जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

एंथ्रोपोलॉजिकल साइंटिस्ट थॉमस क्राफ्ट और प्रोफेसर माइकल गुरवेन के नेतृत्व में यह अध्ययन किया गया। इस अध्ययन में अमेजन के जंगलों में रहने वाले सिमेने जनजाति के लोगों को भी शामिल किया गया था। इसमें ऐसे तथ्य सामने आए, जिससे पूरी दुनिया के लोगों के शरीर के तापमान में गिरावट होने की जानकारी मिली।

शोधकर्ताओं की मानें तो हर साल तापमान में 0.09 डिग्री फॉरेनहाइट की गिरावट आ रही है। शोधकर्ता गुरवेन ने बताया कि पिछले 2 दशकों में इंसानी शरीर के तापमान में उतनी गिरावट आई है, जितनी अमेरिकी देशों में 200 सालों के दौरान देखने को मिली है।

रिसर्च टीम के अनुसार, समय के साथ लोगों में खाने-पीने से लेकर लाइफस्टाइल तक में हाइजीन को लेकर अवेयरनेस बढ़ी है, वैक्सीनेशन और समय पर इलाज होने लगे हैं, जिसके कारण इंफेक्शन की समस्याओं में गिरावट आई है। इसके अलावा एंटी इंफ्लेमेंटरी दवाइओं के इस्तेमाल से भी शरीर के तापमान में गिरावट दर्ज हो रही है।

इंसानों के शरीर का मेडिकली नॉर्मल स्टेंडर्ड टेंप्रेचर 98.6 डिग्री फॉरेनहाइट या 37 डिग्री सेल्सियस माना जाता है और इससे ज्यादा होना बुखार के लक्षणों में शामिल होता है।

Related Articles