News Narmadanchal

बिना मास्क होगा तगड़ा जुर्माना, 24 घंटे के लिए बाइक जब्त होगीबिना मास्क होगा तगड़ा जुर्माना, 24 घंटे के लिए बाइक जब्त होगी

कोरोना की रोकथाम को लेकर होगी सख्ती

इटारसी। कोरोना वायरस (Corona Virus) के तीसरे चरण में तीव्रता की खबरें मिलने के बाद आज क्राइसिस कमेटी (Crisis Committee) की बैठक में प्रशासन ने सख्ती बरतने के संकेत दे दिये हैं। एसडीएम एमएस रघुवंशी (SDM MS Raghuvanshi) ने कहा कि प्रशासन ने बिना मास्क (Without Mask) लगाए घर से निकलने वालों पर जुर्माने की कार्रवाई प्रारंभ कर दी है और अब भी लोग नहीं माने तो बाइक से बाजार आने वालों की बाइक 24 घंटे के लिए जब्त कर ली जाएगी। इसके अलावा व्यापारियों से भी उन्होंने कहा कि आपने त्योहार के वक्त सहयोग दिया है, आगे भी सहयोग करें। जो लोग समझाने पर भी सहयोग नहीं करेंगे, उनके खिलाफ एफआईआर (FIR) और जेल भेजने की कार्रवाई भी की जा सकती है। बैठक में मौजूद व्यापारियों ने प्रशासन की कार्रवाई में सहयोग के लिए आश्वस्त किया है।

क्राइसिस कमेटी की बैठक को संबोधित करते हुए एसडीएम एमएस रघुवंशी ने कहा कि हरेक अपने आपको बचाने की सोच ले तो कोरोना हमें नहीं हरा सकता। गाइड लाइन का पालन करने वाले को कभी कोरोना नहीं हो सकता है। प्रशासन अपना काम कर रहा, जनता के सहयोग की आवश्यकता है। टीआई रामस्नेह चौहान (TI Ramsneh Chauhan) ने कहा, तीसरे फेज़ में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और विशेषज्ञों के अनुसार यह तीसरे बेव पहले से अधिक घातक होगी, अत: हमें ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से उपस्थित जेडी डॉ. नलिनी गौर (JD Dr. Nalini Gaur) ने कहा कि दिसंबर 2021 तक निचले स्तर तक वैक्सीन आने की उम्मीद नहीं है, अत: जब तक वैक्सीन नहीं आती, मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सेनेटाइजर बहुत जरूरी है। अब लक्षणरहित रोगी मिल रहे हैं जो सबसे खतरनाक स्थिति है।

सीएमओ हेमेश्वरी पटले (CMO Hemeshwari Patale) ने कहा, प्रशासन काम कर रहा है, जनसहयोग की जरूरत है। मास्क अवश्य लगाएं और अप्रिय कार्रवाई से बचें। एसडीओपी महेन्द्र मालवीय (SDOP Mahendra Malaviya) ने कहा, आठ माह हो गये, सबको सब पता है, हम लापरवाही छोड़ें, क्योंकि कोरोना बढ़ रहा है। घबराएं नहीं सावधानी रखें और गाइडलाइन का पालन करें। डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ. आरके चौधरी (Superintendent in charge Dr. RK Chaudhary) ने अस्पताल में कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध जांच और चिकित्सा सुविधा की जानकारी दी।

आगे क्या
– आर्डनेंस फैक्ट्री और रेलवे अस्पताल के लैब टैक्नीशियन को ट्रेंड करके वहां जांच प्रारंभ करायी जा सकती है।
– शहर में दो अर्बन पीएचसी हैं जहां सर्दी-जुकाम, खांसी-बुखार के मरीजों की प्रारंभ जांच की जा सकती है।
– मास्क नहीं लगाने वालों पर अभी 100 रुपए जुर्माना हो रहा, आगे यह राशि बढ़ाकर पांच सौ रुपए की जा सकती है।
– जो बाइकर्स बिना मास्क के बाजार में मिला, उसकी बाइक 24 घंटे के लिए जब्त करके उसे पैदल घर भेजा जाएगा।

फूड सिक्योरिटी की कार्रवाई पर सवाल
क्राइसिस मैनेजमेंट कमिटी (Crisis Management Committee) की बैठक कोरोना की रोकथाम के लिए हुई थी। लेकिन, व्यापारियों ने पिछले दिनों फूड सिक्योरिटी विभाग के अधिकारियों द्वारा व्यापारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए इसे गैर जरूरी बताया। व्यापारियों का कहना था कि पैक्ड सामान पर व्यापारियों पर प्रकरण क्यों, कंपनी पर क्यों नहीं? एसडीएम एमएस रघुवंशी ने कहा कि केवल उस पैक्ड माल पर प्रकरण बनता है, जो एक्सपायरी डेट का मिलता है। जहां तक व्यापारियों पर फूड एंड सिक्योरिटी विभाग की ज्यादतियों की बात है, वे आश्वस्त करते हैं कि बिना एसडीएम को सूचना या जानकारी दिये, विभाग के अधिकारी बाजार में सीधे कोई जांच या कार्रवाई नहीं करेंगे। इस घोषणा के बाद व्यापारियों ने तालियां बजायीं।

ये आए सुझाव
– किराना व्यापारी जयप्रकाश अग्रवाल का सुझाव था, प्रशासन की कार्रवाई का व्यापारियों को सहयोग करना चाहिए।
– रेडिमेड कपड़ा व्यापारी कन्हैया गुरयानी ने कहा, त्योहार पर अच्छी व्यवस्था थी, आगे भी प्रशासन को सहयोग देंगे।
– भाजपा नेता जगदीश मालवीय ने कहा, पीपीई किट पहनकर लोगों सवाल करें कि स्वास्थ्यकर्मी घंटों ऐसे रहते हैं, आप केवल मास्क नहीं लगा सकते?
– आम आदमी पार्टी के राजेश गुप्ता का सुझाव था, जयस्तंभ के आसपास मुफ्त में मास्क और सेनेटाइजर रखे जाएं, हर आदमी रोज खर्च नहीं कर सकता।
– पूर्व पार्षद अवध पांडेय का कहना था, सभी वार्डों में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की मदद लेकर जागरुकता कार्यक्रम चलाएं
– भाजपा नगर अध्यक्ष नीरज जैन ने का सुझाव था, बाजार के रास्तों पर चैकिंग पाइंड बनाकर बिना मास्क वालों पर कार्रवाई हो
– सामाजिक कार्यकर्ता मनीष ठाकुर का कहना था कि मुस्कुराईये इंडिया जागरुकता के लिए नुक्कड़ नाटक से सहयोग करेगा
– जिला पत्रकार संघ अध्यक्ष प्रमोद पगारे ने कहा, हम संकल्प लें कि प्रशासन दंड दे तो कोई सिफारिश न करें, बिना मास्क कोई घर से न निकले
– अजय राजपूत ने कहा, मास्क महंगे दिये जा रहे, मास्क का निबटान कैसे हो, यह जानकारी मेडिकल स्टोर्स पर अंकित कर डस्टबिन रखें।
– कांग्रेस अध्यक्ष पंकज राठौर ने कहा, नगर रक्षा समिति और अन्य संगठनों की जागरुकता के लिए मदद ली जाए
– व्यापार महासंघ अध्यक्ष दीपक अग्रवाल ने कहा, शहर को 4-5 जोन में बांटकर जोन स्तर पर जांच हो, एनजीओ की मदद लें, टेस्ट की संख्या बढ़ाएं
– सांसद प्रतिनिधि शैलेन्द्र दीक्षित ने कहा, आर्डनेंस, रेलवे अस्पतालों में जांच हो, गांव से आने-जाने वालों को वहां की पुलिस जांच करे
– गोविन्द बांगड़ ने कहा, खाद्य पदार्थों की जांच में तकनीकि बातों का ध्यान रखा जाए, दालें जहां से पालिस होकर आती हैं, वहीं रोक लगे

कोरोना की रोकथाम को लेकर होगी सख्ती

इटारसी। कोरोना वायरस (Corona Virus) के तीसरे चरण में तीव्रता की खबरें मिलने के बाद आज क्राइसिस कमेटी (Crisis Committee) की बैठक में प्रशासन ने सख्ती बरतने के संकेत दे दिये हैं। एसडीएम एमएस रघुवंशी (SDM MS Raghuvanshi) ने कहा कि प्रशासन ने बिना मास्क (Without Mask) लगाए घर से निकलने वालों पर जुर्माने की कार्रवाई प्रारंभ कर दी है और अब भी लोग नहीं माने तो बाइक से बाजार आने वालों की बाइक 24 घंटे के लिए जब्त कर ली जाएगी। इसके अलावा व्यापारियों से भी उन्होंने कहा कि आपने त्योहार के वक्त सहयोग दिया है, आगे भी सहयोग करें। जो लोग समझाने पर भी सहयोग नहीं करेंगे, उनके खिलाफ एफआईआर (FIR) और जेल भेजने की कार्रवाई भी की जा सकती है। बैठक में मौजूद व्यापारियों ने प्रशासन की कार्रवाई में सहयोग के लिए आश्वस्त किया है।

क्राइसिस कमेटी की बैठक को संबोधित करते हुए एसडीएम एमएस रघुवंशी ने कहा कि हरेक अपने आपको बचाने की सोच ले तो कोरोना हमें नहीं हरा सकता। गाइड लाइन का पालन करने वाले को कभी कोरोना नहीं हो सकता है। प्रशासन अपना काम कर रहा, जनता के सहयोग की आवश्यकता है। टीआई रामस्नेह चौहान (TI Ramsneh Chauhan) ने कहा, तीसरे फेज़ में मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है और विशेषज्ञों के अनुसार यह तीसरे बेव पहले से अधिक घातक होगी, अत: हमें ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से उपस्थित जेडी डॉ. नलिनी गौर (JD Dr. Nalini Gaur) ने कहा कि दिसंबर 2021 तक निचले स्तर तक वैक्सीन आने की उम्मीद नहीं है, अत: जब तक वैक्सीन नहीं आती, मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और सेनेटाइजर बहुत जरूरी है। अब लक्षणरहित रोगी मिल रहे हैं जो सबसे खतरनाक स्थिति है।

सीएमओ हेमेश्वरी पटले (CMO Hemeshwari Patale) ने कहा, प्रशासन काम कर रहा है, जनसहयोग की जरूरत है। मास्क अवश्य लगाएं और अप्रिय कार्रवाई से बचें। एसडीओपी महेन्द्र मालवीय (SDOP Mahendra Malaviya) ने कहा, आठ माह हो गये, सबको सब पता है, हम लापरवाही छोड़ें, क्योंकि कोरोना बढ़ रहा है। घबराएं नहीं सावधानी रखें और गाइडलाइन का पालन करें। डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी शासकीय अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ. आरके चौधरी (Superintendent in charge Dr. RK Chaudhary) ने अस्पताल में कोविड मरीजों के लिए उपलब्ध जांच और चिकित्सा सुविधा की जानकारी दी।

आगे क्या
– आर्डनेंस फैक्ट्री और रेलवे अस्पताल के लैब टैक्नीशियन को ट्रेंड करके वहां जांच प्रारंभ करायी जा सकती है।
– शहर में दो अर्बन पीएचसी हैं जहां सर्दी-जुकाम, खांसी-बुखार के मरीजों की प्रारंभ जांच की जा सकती है।
– मास्क नहीं लगाने वालों पर अभी 100 रुपए जुर्माना हो रहा, आगे यह राशि बढ़ाकर पांच सौ रुपए की जा सकती है।
– जो बाइकर्स बिना मास्क के बाजार में मिला, उसकी बाइक 24 घंटे के लिए जब्त करके उसे पैदल घर भेजा जाएगा।

फूड सिक्योरिटी की कार्रवाई पर सवाल
क्राइसिस मैनेजमेंट कमिटी (Crisis Management Committee) की बैठक कोरोना की रोकथाम के लिए हुई थी। लेकिन, व्यापारियों ने पिछले दिनों फूड सिक्योरिटी विभाग के अधिकारियों द्वारा व्यापारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए इसे गैर जरूरी बताया। व्यापारियों का कहना था कि पैक्ड सामान पर व्यापारियों पर प्रकरण क्यों, कंपनी पर क्यों नहीं? एसडीएम एमएस रघुवंशी ने कहा कि केवल उस पैक्ड माल पर प्रकरण बनता है, जो एक्सपायरी डेट का मिलता है। जहां तक व्यापारियों पर फूड एंड सिक्योरिटी विभाग की ज्यादतियों की बात है, वे आश्वस्त करते हैं कि बिना एसडीएम को सूचना या जानकारी दिये, विभाग के अधिकारी बाजार में सीधे कोई जांच या कार्रवाई नहीं करेंगे। इस घोषणा के बाद व्यापारियों ने तालियां बजायीं।

ये आए सुझाव
– किराना व्यापारी जयप्रकाश अग्रवाल का सुझाव था, प्रशासन की कार्रवाई का व्यापारियों को सहयोग करना चाहिए।
– रेडिमेड कपड़ा व्यापारी कन्हैया गुरयानी ने कहा, त्योहार पर अच्छी व्यवस्था थी, आगे भी प्रशासन को सहयोग देंगे।
– भाजपा नेता जगदीश मालवीय ने कहा, पीपीई किट पहनकर लोगों सवाल करें कि स्वास्थ्यकर्मी घंटों ऐसे रहते हैं, आप केवल मास्क नहीं लगा सकते?
– आम आदमी पार्टी के राजेश गुप्ता का सुझाव था, जयस्तंभ के आसपास मुफ्त में मास्क और सेनेटाइजर रखे जाएं, हर आदमी रोज खर्च नहीं कर सकता।
– पूर्व पार्षद अवध पांडेय का कहना था, सभी वार्डों में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं की मदद लेकर जागरुकता कार्यक्रम चलाएं
– भाजपा नगर अध्यक्ष नीरज जैन ने का सुझाव था, बाजार के रास्तों पर चैकिंग पाइंड बनाकर बिना मास्क वालों पर कार्रवाई हो
– सामाजिक कार्यकर्ता मनीष ठाकुर का कहना था कि मुस्कुराईये इंडिया जागरुकता के लिए नुक्कड़ नाटक से सहयोग करेगा
– जिला पत्रकार संघ अध्यक्ष प्रमोद पगारे ने कहा, हम संकल्प लें कि प्रशासन दंड दे तो कोई सिफारिश न करें, बिना मास्क कोई घर से न निकले
– अजय राजपूत ने कहा, मास्क महंगे दिये जा रहे, मास्क का निबटान कैसे हो, यह जानकारी मेडिकल स्टोर्स पर अंकित कर डस्टबिन रखें।
– कांग्रेस अध्यक्ष पंकज राठौर ने कहा, नगर रक्षा समिति और अन्य संगठनों की जागरुकता के लिए मदद ली जाए
– व्यापार महासंघ अध्यक्ष दीपक अग्रवाल ने कहा, शहर को 4-5 जोन में बांटकर जोन स्तर पर जांच हो, एनजीओ की मदद लें, टेस्ट की संख्या बढ़ाएं
– सांसद प्रतिनिधि शैलेन्द्र दीक्षित ने कहा, आर्डनेंस, रेलवे अस्पतालों में जांच हो, गांव से आने-जाने वालों को वहां की पुलिस जांच करे
– गोविन्द बांगड़ ने कहा, खाद्य पदार्थों की जांच में तकनीकि बातों का ध्यान रखा जाए, दालें जहां से पालिस होकर आती हैं, वहीं रोक लगे

कोरोना की रोकथाम को लेकर होगी सख्ती इटारसी। कोरोना वायरस (Corona Virus) के तीसरे चरण में तीव्रता की खबरें मिलने के बाद आज क्राइसिस कमेटी (Crisis Committee) की बैठक में प्रशासन ने सख्ती बरतने के संकेत दे दिये हैं। एसडीएम एमएस रघुवंशी (SDM MS Raghuvanshi) ने कहा कि प्रशासन ने बिना मास्क (Without Mask) लगाए

Related Articles