News Narmadanchal
मकर संक्रांति के साथ हुई माघ मेले की शुरूआत, 37 साल बन रहा शुभ योग

मकर संक्रांति के साथ हुई माघ मेले की शुरूआत, 37 साल बन रहा शुभ योग

नई दिल्लीः आज समस्त देश में मकर संक्रांति का त्योहार अलग-अलग नामों से मनाया जाता है। इस त्योहार पर गंगा स्नान और दान पुण्य करने की पंरपरा है। मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन पवित्र नदी में स्नान करने से सारे पाप धुल जाते हैं और पुण्य की प्राप्ति होती है।

इस बार कोरोना काल के दौरान प्रयागराज के संगम किनारे बसाये गये माघ मेले का पहला स्नान पर्व मकर संक्रांति पर हो रहा है। इसमें लाखों श्रद्धालु संगम तट पर आस्था की डुबकी लगा रहे हैं। इस बार मेले में हर श्रद्धालु अपनी कोरोना निगेटिव लेकर आ रहे हैं। घाटों पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ स्नान की व्यवस्था की गई है।

मकर संक्रांति पर संगम सहित गंगा और यमुना के सभी स्नान घाटों पर ब्रह्म मुहूर्त से ही श्रद्धालुओं के स्नान का सिलसिला शुरू हो गया। सुबह सात बजे के बाद से श्रद्धालुओं की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस बार माघ मेला में पंडाल लगाने की अनुमति नहीं है।

सिर्फ आश्रमों औऱ कल्पवास के लिए पंडाल लगाया गया है। संगम के अलावा गंगा के अक्षयवट, काली घाट, दारागंज, फाफामऊ घाट पर भी स्नान चल रहा है। माघ मेले के दौरान छह प्रमुख स्नान होंगे। इसकी शुरूआत मकर संक्रांति से होती है। सभी तीर्थ पुरोहितों से आने वाले कल्पवासियों का ब्योरा लेकर इसे वेबसाइट पर अपलोड किया गया है।

आपको बता दें कि दान-पुण्य और स्नान का पर्व मकर संक्रांति है। इस बार मकर संक्राति पर पंचग्रही योग बना है। बताया जा रहा है कि यह योग 37 साल बाद बना है। श्रद्धालु 37 साल बाद इस योग में पुण्य की डुबकी लगायेंगे। आज श्रद्धालु घाट किनारे स्नान कर पूजा-अर्चना, अंजलि से ही सूर्य को अर्घ्य देंगे। इसके बाद गंगापुत्र घाटियों के यहां तिलक-चंदन लगवायेंगे और यथाशक्ति दान-दक्षिणा देंगे। वहीं, खिचड़ी के साथ ही पूछ पकड़कर गोदान भी करेंगे।

The post मकर संक्रांति के साथ हुई माघ मेले की शुरूआत, 37 साल बन रहा शुभ योग appeared first on Kolkata24x7-Latest Hindi News, Bengali News, Bangla Newspaper, Hindi Breaking News, Kolkata Hindi News, Kolkata News Online.

नई दिल्लीः आज समस्त देश में मकर संक्रांति का त्योहार अलग-अलग नामों से मनाया जाता है। इस त्योहार पर गंगा स्नान और दान पुण्य करने की पंरपरा है। मान्यता है कि मकर संक्रांति के दिन पवित्र नदी में स्नान करने से सारे पाप धुल जाते हैं और पुण्य की प्राप्ति होती है। इस बार कोरोना
The post मकर संक्रांति के साथ हुई माघ मेले की शुरूआत, 37 साल बन रहा शुभ योग appeared first on Kolkata24x7-Latest Hindi News, Bengali News, Bangla Newspaper, Hindi Breaking News, Kolkata Hindi News, Kolkata News Online.

Related Articles