News Narmadanchal
मरवाही उपचुनाव : भाजपा और कांग्रेस के चार-चार दावेदार, जोगी कांग्रेस से अमित अकेले

मरवाही उपचुनाव : भाजपा और कांग्रेस के चार-चार दावेदार, जोगी कांग्रेस से अमित अकेले

रायपुर. मरवाही उपचुनाव को लेकर बिसात बिछ गई है। 9 अक्टूबर से नामांकन होना है। भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवार तय करने से पहले हर तरीके से मशक्कत कर रही हैं। कई स्तर के सर्वे और पार्टी कार्यकर्ताओं की रायशुमारी के बाद भाजपा और कांग्रेस से चार-चार दावेदारों के नाम सामने आए हैं। भाजपा चुनाव समिति की तो बैठक भी हो गई है और चार नामों का पैनल बनाकर दिल्ली भेज दिया गया है, लेकिन कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक 9 अक्टूबर को होगी।

इधर जोगी कांग्रेस से अकेले दावेदार पूर्व मुख्यमंत्री स्व. अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी ही हैं। वैसे पार्टी ने बैकअप प्लान भी बनाकर रखा है। मरवाही में उपचुनाव 3 नंवबर को होना है। यहां की सीट पूर्व मुख्यमंत्री एवं जोगी कांग्रेस के सुप्रीमो रहे स्व. अजीत जोगी के निधन के बाद खाली हुई है। इस सीट के लिए अब कांग्रेस के साथ भाजपा ने भी पूरा जोर लगाने का फैसला किया है। यह सीट हमेशा से जोगी परिवार के खाते में रही है। चाहे पहले जोगी परिवार जब कांग्रेस में था, तब भी और इसके बाद जब अजीत जोगी ने अपनी अलग पार्टी बनाई तब भी। अब अपने पिता के स्थान पर अमित जोगी ने चुनाव लड़ने का फैसला किया है। फिलहाल जोगी कांग्रेस से अमित जोगी की अकेले दावेदार हैं। किसी कारणवश अगर वे चुनाव नहीं लड़ सके तो फिर बैकअप तैयार करके रखा गया है, लेकिन पार्टी किसी और नाम का खुलासा नहीं कर रही है।

भाजपा से डा. गंभीर, समीरा रामदयाल और पोर्ते

भाजपा ने चुनाव के लिए अपनी तैयारी कर ली है। प्रदेश भाजपा चुनाव समिति की बैठक में चार नाम शार्टलिस्ट भी कर लिए गए हैं। ये नाम हैं, डॉ. गंभीर सिंह, पूर्व विधायक रामदयाल उइके, समीरा पैकरा और अर्चना पोर्ते। अब तक के चुनाव में भाजपा का मरवाही में स्थान दूसरा रहा है। इस बार परिस्थितियों का फायदा उठाते हुए भाजपा बाजी मारना चाहती है।

कांग्रेस के दावेदार

मरवाही उपचुनाव को लेकर कांग्रेस से कई दावेदार हैं, उनमें विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ चुके गुलाब सिंह राज, जिला पंचायत उपाध्यक्ष हेमकुंवर श्याम, रिटायर्ड जज प्रमोद परस्ते, पहलवान सिंह मरावी के नाम सामने आए हैं। इनके अलावा भी मरवाही से टिकट मांगने की कतार में कई और कांग्रेसी शामिल हैं, लेकिन मुख्य दावेदारों में चार ही नाम हैं। प्रदेश चुनाव समिति की 9 अक्टूबर को होने वाली बैठक में नामों का पैनल तय होगा। इसके बाद आलाकमान से मंजूरी के बाद ही नाम का ऐलान होगा।

मरवाही उपचुनाव को लेकर बिसात बिछ गई है। 9 अक्टूबर से नामांकन होना है। भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवार तय करने से पहले हर तरीके से मशक्कत कर रही हैं। कई स्तर के सर्वे और पार्टी कार्यकर्ताओं की रायशुमारी के बाद भाजपा और कांग्रेस से चार-चार दावेदारों के नाम सामने आए हैं। भाजपा चुनाव समिति की तो बैठक भी हो गई है और चार नामों का पैनल बनाकर दिल्ली भेज दिया गया है, लेकिन कांग्रेस चुनाव समिति की बैठक 9 अक्टूबर को होगी।

Related Articles