News Narmadanchal
योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का प्रियंका पर पलटवार, कहा हाथरस गैंगरेप कांड पर सेंकी जा रही हैं राजनीतिक रोटियां

योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का प्रियंका पर पलटवार, कहा हाथरस गैंगरेप कांड पर सेंकी जा रही हैं राजनीतिक रोटियां

मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का प्रियंका पर पलटवारमंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का प्रियंका पर पलटवार

हाथरस गैंगरेप कांड पर अब राजनीतिक जंग छिड़ गई है। विपक्ष पार्टी, सरकार और प्रशासन पर जमकर हल्ला बोल रही है तो वहीं दूसरी ओर सत्ताधारी सरकार के प्रवक्ता अपनी लीपापोती कर प्रदेश में क्राइम ग्राफ के आंकड़ों को गिनाने में लगे हुए हैं।

दरअसल, हाथरस घटना के बाद कांग्रेस के नेता राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने जा रहे हैं। इस खबर की जानकारी मिलते ही जिले में धारा-144 लागू कर दिया गया है। साथ ही सीमाएं को भी सील कर दिया गया है।

बारां रेप की घटना पर प्रियंका चुप क्यों?

इस मुलाकात को लेकर योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर तीखा हमला बोला है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि राजस्थान के बारां में रेप की घटना हुई। प्रियंका गांधी वहां मुलाकात करने क्यों नहीं गई?

बारां में हुई रेप की वारदात पर प्रियंका अब तक अपनी चुप्पी क्यों साध रखी हुई है? यूपी में कानून पूरी तरह चुस्त है। एनसीआरबी के आंकड़े के अनुसार कड़ी कानून के तहत 2016 के अपेक्षा 2020 में रेप की घटनाओं में 38.5 फीसदी की कमी आई है। 

एफएसएल रिपोर्ट के बाद हम कांग्रेस से मांगेंगे जवाब 

विपक्ष जिस माफियाराज और जंगलराज की बात कर रहे हैं वो तो मायावती और अखिलेश की सरकार में चल रही थी। जिस पर योगी सरकार  कारवाई कर रहे हैं और रही बात राहुल और प्रियंका गांधी का, तो वो हाथरस गैंगरेप की घटना पर राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे हैं।

मंत्री ने आगे कहा कि कानून हाथरस और बलरामपुर की घटना अपना काम कर रही है। हाथरस घटना पर SIT ने जांच शुरू कर दी। जबकि बलरामपुर घटना में दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। एफएसएल की रिपोर्ट आने के बाद हम कांग्रेस से जवाब मांगेंगे।

दोनों घटनाओं पर देशभर में आक्रोश

गौरतलब है कि हाथरस गैंगरेप के जैसा बलरामपुर में भी गैंगरेप और कुकृत्य जानलेवा हमला किया गया। इन दोनों घटनाओं में दोनों दलित बेटियों की मौत हो गई। इसके बाद से गैंगरेप कांड के खिलाफ और भी ज्यादा लोगों में आक्रोश का माहौल बना हुआ है। 

हाथरस गैंगरेप कांड पर अब राजनीतिक जंग छिड़ गई है। विपक्ष पार्टी, सरकार और प्रशासन पर जमकर हल्ला बोल रही है तो वहीं दूसरी ओर सत्ताधारी सरकार के प्रवक्ता अपनी लीपापोती कर प्रदेश में क्राइम ग्राफ के आंकड़ों को गिनाने में लगे हुए हैं।[#item_full_content]

Related Articles