News Narmadanchal
राजकोट : 10वीं पास फर्जी डॉक्टर पकड़ाया, कोरोना काल में अनेक लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़

राजकोट : 10वीं पास फर्जी डॉक्टर पकड़ाया, कोरोना काल में अनेक लोगों के स्वास्थ्य से खिलवाड़

जब से कोरोना महामारी फैली है, गलत तरीके से पैसे कमाने वालों को तो जाने खुला मैदान मिल गया हो। राजकोट शहर पुलिस ने एक डॉक्टर को हिरासत में लिया था, जो बिना किसी मेडिकल डिग्री के क्लीनिक चला रहा था। अरविंद नाम का यह व्यक्ति मात्र 10 वीं तक पढ़ा है और गायत्रीनगर पर खुद का क्लीनिक चलाता है। पुलिस को जब यह जानकारी मिली तो तुरंत ही पुलिस ने डॉक्टर को हिरासत में लिया था।

राजकोट में पुलिस जब पेट्रोलिंग कर रही थी, तभी उसे जानकारी मिली कि गायत्रीनगर के मुख्य रोड पर एक बिना डिग्री वाला डॉक्टर लोगों के आरोग्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है। पुलिस को इस बारे में जानकारी मिलते ही, पुलिस ने वहां छापा मारा था और कई हॉस्पिटल इक्विपमेंट्स, दवाइयों का स्टॉक, इंजेक्शन और अन्य चीजें जप्त की थी। पुलिस ने इसके बाद आरोपी अरविंद की गिरफ्तारी की थी और मेडिकल प्रैक्टिशनर एक्ट के तहत उस पर मुकद्दमा दर्ज किया था।

केस से जुड़े लोगों के खिलाफ उठाए जाएंगे कड़े कदम : पुलिस

पुलिस ने अरविंद की पूछताछ शुरू कर दी है। इस नकली डॉक्टर के तार कहां तक फैले हुए हैं इसका पता लगाने में पुलिस जुट गई है। पुलिस ने कहा कि इस केस में जिसका भी नाम आएगा उस पर कड़े कदम उठाए जाएंगे।

इसके पहले राजकोट से रेमेडीसिविर इंजेक्शन कांड में चार लोगों को हिरासत में लिया गया था। ये सभी इंजेक्शन की कालाबाजारी करते हुए पकड़े गए थे।

शहर के सभी सिटी स्कैन सेंटर की होगी जांच

राज्य के आरोग्य सचिव जयंती रवि ने राज्य के सभी सिटी स्कैन सेंटर्स के जांच के आदेश दिए हैं। इन सभी सिटी स्कैन सेंटर्स में राज्य सरकार द्वारा दी हुई सूचनाओं का पालन होता है या नहीं इसके जांच की जिम्मेदारी सभी को सौंपी गई है।

जब से कोरोना महामारी फैली है, गलत तरीके से पैसे कमाने वालों को तो जाने खुला मैदान मिल गया हो। राजकोट शहर पुलिस ने एक डॉक्टर को हिरासत में लिया था, जो बिना किसी मेडिकल डिग्री के क्लीनिक चला रहा था। अरविंद नाम का यह व्यक्ति मात्र 10 वीं तक पढ़ा है और गायत्रीनगर पर

Related Articles