News Narmadanchal
राहुल गांधी के हरियाणा दौरे को लेकर जुबानी जंग हुई तेज

राहुल गांधी के हरियाणा दौरे को लेकर जुबानी जंग हुई तेज

राहुल गांधी करेंगेे टैक्टर रैलियांराहुल गांधी करेंगेे टैक्टर रैलियां

योगेंद्र शर्मा. चंडीगढ़

हरियाणा और पंजाब (Haryana and Punjab) में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की किसान ट्रैक्टर यात्रा को लेकर दोनों राज्यों में सियासत (Politics) लगातार गर्मायी हुई है। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज (Home Minister Anil Vij) ने शनिवार को एक बार फिर से कहा कि कोविड महामारी के नियमों का पालन करते हुए राहुल आएं, कोई दिक्कत नहीं हैं। विज ने कहा कि राहुल गांधी औऱ कांग्रेसी नेता किसानों के नाम पर सियासी ड्रामा कर हरियाणा में कानून व्यवस्था बिगाड़ने की तैयारी में हैं। जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। दूसरी तरफ अब इस लड़ाई में पड़ोसी राज्य पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेंद्र भी कूद गए हैं, जिनका कहना है कि राहुल गांधी को भला कैसे रोका जा सकता है, कोई जंगलराज थोड़े ही है।

शनिवार को एक बार फिर से हरियाणा के गृहमंत्री राहुल गांधी की किसान यात्रा को लेकर कहा कि राहुल कोविड की चुनौती में अकेले नियमों के मुताबिक यात्रा करें, तो कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन भीड़ एकत्र करने औऱ कानू व्यवस्था बिगाड़ने की इजाजत नहीं होगी। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह द्वारा सवाल उठाए जाने की हरियाणा में क्या जंगल राज है? क्या जो किसी को हरियाणा में घुसने नही दिया जाएगा ।

हरियाणा में सही मायनों में कानून का राज :  विज

पंजाब के सीएम को गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि हरियाणा में सही मायनों में राज है । उन्होंने कहा कि राहुल गांधी खुद आना चाहते है तो हजार बार हरियाणा में आएं इस पर कोई एतराज नहीं। यदि वे पंजाब से जलूस लेकर हरियाणा में दाखिल होना चाहते हैं और हरियाणा का माहौल खराब करना चाहते हैं तो उन्हें ऐसा नहीं करने दिया जाएगा। कोरोना काल चल रहा है और डिजास्टर एक्ट लागू है और सौ से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते। इससे पहले 2 बार हरियाणा में दाखिल होने की कोशिश हो चुकी है और उन्हें हरियाणा में घुसने नहीं दिया। विज ने कहा कि कानून सभी के लिए एक है, आम आदमी के लिए कानून अलग नहीं है। अगर राहुल गांधी पंजाब से जुलूस लेकर आते हैं और हरियाणा का माहौल खराब करना चाहते हैं, तो उन्हें ऐसा नहीं करने दिया जाएगा। विज ने कहा कि पंजाब के सीएम औऱ कांग्रेसी नेता खुद जाम लगाने व जनता को दुखी करने का काम कर रहे हैं। हरियाणा पीसफुल स्टेट हैं और हमें लोगों के हितों का ध्यान रखना है।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा ने आरोप लगाया है कि भाजपा शासित प्रदेशों में दलित महिलाओं के साथ अत्याचार बढ़ा है। जिस पर जवाब देते हुए हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि कुमारी सैलजा को राजस्थान जाकर देखना चाहिए। अत्याचार कहीं भी हो उसकी आवाज उठानी चाहिए मैं खुद उठाता हूँ वो चाहे उत्तर प्रदेश में हो जहां भाजपा का शासन है चाहे राजस्थान हो जहां कॉंग्रेस का शासन है लेकिन राहुल और प्रियंका गांधी को उत्तर प्रदेश तो याद आता है लेकिन वो राजस्थान जाकर गहलोत के कान क्यों नही खींचते जहां कांग्रेस का शासन है? वहां क्यों नही जाते। विज ने कहा कि इस माम्राले पर राजनीति नहीं की जा सकती, इस चीज की राजनीति गलत है प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी सैलजा भी खुलकर मैदान में आ गई हैं।

सैलजा हमलावर कहा- हरियाणा में आने से कौन रोकेगा देखेंगे

मुखर हुई सैलजा का कहना है कि कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी हरियाणा हर हालत में आएंगे, जिनके आगमन को लेकर कांग्रेस जोरदार स्वागत के लिए तैयार है। सैलजा ने विज और भाजपा सरकार को आड़े हाथों लिया व कहा कि राहुल की यात्रा को लेकर जो वक्तव्य आ रहे हैं, यह सारा कुछ दुर्भाग्यपूर्ण बात है। सैलजा ने कहा कि राहुल गांधी का अधिकार है कि हरियाणा प्रदेश में लोगों की बात सुनकर उनका दुख दर्द बांटें,. जिससे भाजपा सरकार बौखलाए हुए हैं। सैलजा ने साफ कर दिया है कि हरियाणा सरकार उन्हें हरियाणा में आने से रोकती है, हम इस बात को देखने के लिए तैयार हैं। सैलजा अपने समर्थकों के साथ में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ हाथरस में दरिंदगी का शिकार हुई मृतक लड़की के परिजनों से मिलने के लिए जा रही हैं।

सरकार द्वारा तीन कृषि विरोधी काले कानून बनाए हैं, इन काले कानूनों से किसान, मजदूर, आढ़तियों को अपना समर्थन देने के लिए राहुल गांधी को आमंत्रित किया है। सैलजा ने कहा कि प्रधानमंत्री के पास लोगों का दुख दर्द और पीड़ा सुनने के लिए समय नहीं है।

छह अक्टूबर को पटियाला से सीधे पेहवा

सैलजा ने कहा कि छह अक्टूबर को वे पंजाब पटियाला से निकलकर सीधे ही पेहवा कुरुक्षेत्र में एंट्री करेंगे। इस दौरान हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के सभी नेता औऱ पदाधिकारी जोरदार स्वागत के लिए तैयार हैं। 6 अक्टूबर को वह पंजाब से पेहवा आएंगे और फिर कुरुक्षेत्र जाएंगे। राहुल गांधी जी पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी जी के पोते और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी के पुत्र हैं, वह एक राजनीतिक व्यक्ति हैं, उनका अधिकार है कि वह लोगों की बात सुनें और उनका दुख दर्द बांटें।

आज अहम बैठक

सैलजा ने कहा कि राहुल गांधी जी के हरियाणा दौरे की तैयारी को लेकर दिल्ली में शनिवार को होने वाली बैठक स्थगित कर दी गई है। अब यह अहम बैठक रविवार को आयोजित होगी। जिसमें कांग्रेस के सांसद, विधायक और पूर्व सांसद, पूर्व विधायक व वरिष्ठ नेता हिस्सा लेंगे।

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज (Home Minister Anil Vij) ने शनिवार को एक बार फिर से कहा कि कोविड महामारी (Covid epidemic) के नियमों का पालन करते हुए राहुल आएं, कोई दिक्कत नहीं हैं। वहीं दूसरी तरफ अब इस लड़ाई में पड़ोसी राज्य पंजाब के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह (Amarinder Singh) भी कूद गए हैं, जिनका कहना है कि राहुल गांधी को भला कैसे रोका जा सकता है, कोई जंगलराज थोड़े ही है।

Related Articles