News Narmadanchal

लो, बैंकों ने नकली नोट थमा RBI को डेढ़ करोड़ का चूना लगा दिया!

देश में बैंकों के बैंक को भी चूना लगा दिया गया। बहुत ही आश्चर्य की बात है। कोरोना काल में क्या से क्या नहीं हो रहा है।

धोखाधड़ी को लेकर कई केसों के बारे में आपने सुना होगा। कभी बैंकों से धोखाधड़ी हो जाती है, तो कभी ग्राहक ही बैंक को चूना लगाकर फरार हो जाते हैं, किंतु ताजा मामला बहुत ही रुचिप्रद है। यह धोखाधड़ी आरबीआई के साथ हुई थी। आरबीआई को चकमा देनेवाला और कोई नहीं अपितु उनकी अपनी ही बैंकें हैं।

एक जांच में खुलासा हुआ है कि लखनऊ स्थित आरबीआई की ब्रांच में नकली नोट जमा करा दी गई है। ये नोट 500 और 1000 रुपए की है। फोरेंसिक सायन्स लैब को भी जांच हेतु लेटर लिखा गया है। आरबीआई के सहायक प्रबंधक रंजना मरावी ने पुलिस थाने में इस मामले में केस दर्ज करा दी है।

इस तरह हुई धोखाधड़ी

लखनऊ महानगर की आरबीआई की करेन्सी चेस्ट में धोखाधड़ी हुई है। बैंक में 500 रुपए के 9753 नोट, 1000 के 5783 नकली नोट मिले हैं। इस तरह जांच में खुलासा हुआ है। जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि इन नोटों की कुल कीमत 1.5 करोड़ रुपए की है और ये सभी नोट अलग-अलग बैंकों से 2017 और 2018 में आई थी। जब इस मामले का खुलासा हुआ तो अधिकारियों के होश उड़ गए। अब इस मामले में अधिक गहराई से जांच की जा रही है। साथ ही पुलिस अब इस पूरे मामले की जांच करेगी।

नोटों की फोरेंसिक जांच भी कराएगी पुलिस

जानकारों के अनुसार शिकायत मिलते ही पुलिस ने नोटों की फोरेंसिक जांच कराने का निर्णय लिया है। इसके लिए पुलिस ने फोरेंसिक सायन्स लैब के अधिकारियों को लेटर भी लिखा है। अब जल्द ही एफएसएल के अधिकारी भी नोटों की जांच के लिए आरबीआई की ब्रांच के लिए जा सकते हैं। सूत्रों का तो यह भी मानना है कि यह मामला अधिक बड़ा हो सकता है।

देश में बैंकों के बैंक को भी चूना लगा दिया गया। बहुत ही आश्चर्य की बात है। कोरोना काल में क्या से क्या नहीं हो रहा है। धोखाधड़ी को लेकर कई केसों के बारे में आपने सुना होगा। कभी बैंकों से धोखाधड़ी हो जाती है, तो कभी ग्राहक ही बैंक को चूना लगाकर फरार हो

Related Articles