News Narmadanchal
विलुप्त होती धरोहर: जीवन की गाड़ी को आगे बढ़ाने वाली बैलगाड़ी का रास्ता हुआ भारी, ट्रैक्टर के आगे ठहर गई देसी गाड़ी

विलुप्त होती धरोहर: जीवन की गाड़ी को आगे बढ़ाने वाली बैलगाड़ी का रास्ता हुआ भारी, ट्रैक्टर के आगे ठहर गई देसी गाड़ी

परिवहन के साधन के रूप में बैलगाड़ी से ही मनुष्य ने एक कोने से दूसरे कोने तक की यात्राएं कीं। राजमहलों, किलों और भवनों को बनाने के लिए निर्माण सामग्री बैलगाड़ी से ही ले जाए गए। लेकिन हमारी विरासत के ये अनमोल धरोहर अब विलुप्त होने की कगार पर हैं।परिवहन के साधन के रूप में बैलगाड़ी से ही मनुष्य ने एक कोने से दूसरे कोने तक की यात्राएं कीं। राजमहलों, किलों और भवनों को बनाने के लिए निर्माण सामग्री बैलगाड़ी से ही ले जाए गए। लेकिन हमारी विरासत के ये अनमोल धरोहर अब विलुप्त होने की कगार पर हैं।

Related Articles