News Narmadanchal
शनिवार को पीएम मोदी करेंगे दुनिया की सबसे लंबी सुरंग “अटल” का उद्घाटन, दस साल में हुआ है तैयार

शनिवार को पीएम मोदी करेंगे दुनिया की सबसे लंबी सुरंग “अटल” का उद्घाटन, दस साल में हुआ है तैयार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल यानी 3 अक्टूबर, 2020 को सुबह 10 बजे रोहतांग में अटल सुरंग का उद्घाटन करेंगे। अटल टनल दुनिया की सबसे लंबी हाईवे टनल है। 9.02 किलोमीटर लंबी सुरंग मनाली को पूरे साल लाहौल-स्पीति घाटी से जोड़ेगी। इससे पहले, भारी बर्फबारी के कारण घाटी हर साल लगभग छह महीने तक शेष देश से कट जाती थी। इस सुरंग के कारण मनाली और लेह के बीच की दूरी 46 किलोमीटर और यात्रा का समय लगभग 4 से 5 घंटे कम हो जाएगी। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने गुरुवार को जानकारी दी कि उद्घाटन समारोह के बाद मोदी लाहौल स्पीति के सीसू और सोलांग घाटी में एक सार्वजनिक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

अटल सुरंग का दक्षिणी पोर्टल मनाली से 25 किलोमीटर की दूरी पर 3,060 मीटर की ऊंचाई पर बना है, जबकि उत्तरी पोर्टल 3,071 मीटर की ऊंचाई पर लाहौल घाटी में तेलिंग, सीसू गांव के नजदीक स्थित है। अधिकारियों ने बताया कि घोड़े की नाल के आकार वाली दो लेन वाली सुरंग में आठ मीटर चौड़ी सड़क है और इसकी ऊंचाई 5.525 मीटर है। सुरंग 10.5 मीटर चौड़ी है।

आपको बता दे कि 3,300 करोड़ रुपए की कीमत से बनी सुरंग देश की रक्षा के नजरिए से बहुत महत्वपूर्ण है। अटल सुरंग का डिजाइन प्रतिदिन तीन हजार कारों और 1500 ट्रकों के लिए तैयार किया गया है जिसमें वाहनों की अधिकतम गति 80 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने रोहतांग दर्रे के नीचे सामरिक रूप से महत्वपूर्ण इस सुरंग का निर्माण कराने का निर्णय किया था और सुरंग के दक्षिणी पोर्टल पर संपर्क मार्ग की आधारशिला 26 मई 2002 को रखी गई थी लेकिन सुरंग का काम 28 जून 2010 को शुरू हुआ।

(Photo Credit : twitter.com)

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने सुरंग बनाने के लिए दिन-रात काम किया, सफलतापूर्वक प्रमुख भूगर्भीय, भौगोलिक और मौसम संबंधी चुनौतियों का सामना किया। मुख्य चुनौती 587 मीटर लंबा सेरी नाला फॉल्ट जोन था। 15 अक्टूबर, 2017 को दोनों पक्षों को सफलता प्राप्त हुई।

सुरंग में अंदर बहुत सारी सुरक्षा विशेषताएं हैं। सुरक्षा की कुछ विशेषताएं इस प्रकार हैं:

(a) दोनों पोर्टल या या अंत में सुरंग के प्रवेश पर बैरियर।

(b) प्रत्येक 150 मीटर पर आपातकालीन संचार टेलीफोन कनेक्शन।

(c) हर 60 मीटर पर अग्नि हाइड्रेंट तंत्र।

(d) हर 250 मीटर पर सीसीटीवी कैमरों के साथ ऑटो घटना का पता लगाने वाला सिस्टम।

(e) हर 1 किमी पर वायु गुणवत्ता निगरानी।

(f) प्रत्येक 25 मिनट में बाहर निकलने के लिए लाइटिंग / निकास चिह्न।

(g) सुरंग से प्रसारण की व्यवस्था।

(h) हर 50 मीटर पर फायर डैम्पर्स ।

(i) प्रत्येक 60 मीटर पर कैमरा।

24 दिसंबर, 2019 को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की एक बैठक आयोजित की गई, जिसमें देश के विकास में उनके योगदान के लिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सराहना करने के लिए रोहतांग सुरंग अटल सुरंग का नाम तय किया गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल यानी 3 अक्टूबर, 2020 को सुबह 10 बजे रोहतांग में अटल सुरंग का उद्घाटन करेंगे। अटल टनल दुनिया की सबसे लंबी हाईवे टनल है। 9.02 किलोमीटर लंबी सुरंग मनाली को पूरे साल लाहौल-स्पीति घाटी से जोड़ेगी। इससे पहले, भारी बर्फबारी के कारण घाटी हर साल लगभग छह महीने तक शेष देश

Related Articles