News Narmadanchal
शिवसेना का भाजपा के बयान पर पलटवार, कहा- हिम्मत है तो बीएमसी पर कब्जा जमा कर दिखाए

शिवसेना का भाजपा के बयान पर पलटवार, कहा- हिम्मत है तो बीएमसी पर कब्जा जमा कर दिखाए

भाजपा के बयान पर शिवसेना का पलटवार

भाजपा के बयान पर शिवसेना का पलटवार

शिवसेना के भगवा ध्वज को शुद्धिकरण की जरूरत वाली भाजपा की टिप्पणी पर शिवसेना ने पलटवार किया है। शिवसेना का कहना है कि भाजपा का भगवा ध्वज से कोई संबंध नहीं है। शिवसेना का भगवा ध्वज 3 दशकों से बीएमसी में फहरा रहा है और भारतीय जनता पार्टी इसे हटाने की हिम्मत करके दिखाए। 

आपको बता दें कि बीते बुधवार को महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी साल 2022 फरवरी के बाद बीएमसी पर कब्जा कर लेगी। वहीं भाजपा नेता आशीष शेलार ने टिप्पणी की, पिछले नवंबर में कांग्रेस और एनसीपी के साथ हिंदुत्व छोड़ने के बाद शिवसेना के भगवा ध्वज को शुद्धिकरण की जरूरत है। 

आज पार्टी के मुखपत्र सामना में एक संपादकीय में कहा गया है कि भाजपा नेताओं ने यह नहीं कहा, उन्होंने अपनी हालिया जीत के बाद बिहार में भगवा झंडा फहराया। भाजपा, शिवसेना के साथ जुड़ने के बाद भगवा ध्वज से जुड़ गई। यह मुंबई (नागरिक निकाय) पर तब से चल रहा है जब भारतीय जनता पार्टी, शिवसेना के साथ नहीं थी। यह भगवा ध्वज शुद्ध, उज्ज्वल और प्रभावी है। 

संपादकीय में यह भी कहा गया है, भले ही बीजेपी ने मराठा योद्धा राजा शिवाजी के वंशजों को अपनी पार्टी में शामिल किया है। लेकिन शिवाजी का भगवा ध्वज अभी भी मराठी लोगों का है। 

शिवसेना का भगवा ध्वज 3 दशकों से बृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) में फहरा रहा है और भारतीय जनता पार्टी इसे हटाने की हिम्मत करके दिखाए।

Related Articles