News Narmadanchal
सूरतः जिला कलेक्टर ने ओलपाड तालुका के 14 गांवों में अवैध झींगा तालाबों को तत्काल प्रभाव से हटाने का दिया आदेश

सूरतः जिला कलेक्टर ने ओलपाड तालुका के 14 गांवों में अवैध झींगा तालाबों को तत्काल प्रभाव से हटाने का दिया आदेश

गावों के सरकारी जमीन के अलावा कीम नदी पर भी बनाये गये हैं झींगा तालाब

पुणे के नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में दायर मूल आवेदन संख्या 16/2020 के तहत जिला कलेक्टर डॉ. धवल पटेल ने ओलपाड तालुका में अवैध झींगा तालाबों को तत्काल प्रभाव से दूर करने का आदेश दिया है। ओलपाड तालुका के मंदरोई, दांडी, कुदियाणा, कपासी, कुवाद, सरस, ओरमा, मोर, देलासा, नेश, काछोल, हाथीसा , लवाछा एवं तेना गावों में विभिन्न ब्लॉक नंबर में झींगा तालाबों के लिए कानूनी रूप से भूमि आवंटित की गई है। लेकिन इन सभी गांवों में, अवैध जमीन के अलावा सरकारी जमीन पर और साथ ही कीम नदी के किनारे पर अवैध झींगा तालाब बनाए गए हैं।

जिला कलेक्टर ने ऐसे अवैध झींगा तालाबों को स्व खर्च से तत्काल प्रभाव से हटाने के लिए सार्वजनिक नोटिस जारी किया है। यदि किसी व्यक्ति को इस संबंध में कोई आपत्ति हो तो 15 दिनों के भीतर ओलपाड मामलतदार के कार्यालय में प्रस्तुत कर सकता है। अन्यथा, उन लोगों के खिलाफ ज.म.का. की धारा 61 तथा गुजरात भूमि हथियाने (निषेध) अधिनियम-2020 के अनुसार कार्यवाही की जाएगी। यह जानकारी ओलपाड मामलतदार कार्यालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में दी गई है।

गावों के सरकारी जमीन के अलावा कीम नदी पर भी बनाये गये हैं झींगा तालाब पुणे के नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में दायर मूल आवेदन संख्या 16/2020 के तहत जिला कलेक्टर डॉ. धवल पटेल ने ओलपाड तालुका में अवैध झींगा तालाबों को तत्काल प्रभाव से दूर करने का आदेश दिया है। ओलपाड तालुका के मंदरोई, दांडी,

Related Articles