News Narmadanchal

सेल्यूट! युवक का हाथ तंग था फिर भी उसे मिले 9 लाख के हीरे लौटा दिये

कहते हैं कि आपकी पहचान पैसे से नहीं आपके चरित्र और व्यवहार से बनती है और आपका चरित्र बनता है आपके कठिन समय में आपके लिए गए निर्णयों से। आदमी को हमेशा ही ईमानदार रहना चाहिए यह हम हमेशा से सुनते आ रहे हैं। ऐसी ही ईमानदारी की मिसाल पेश की है सूरत के हीरा पॉलिश करने वाले एक कारीगर ने।

गुजरात एक्सलूजिव न्यूज पोर्टल की एक रिपोर्ट के अनुसार राजू राठौड़ नाम के हीरा पॉलिश करने वाले एक कारीगर ने हीरा व्यापारी को उसके 9 लाख रुपए के हीरे लौटाए थे। राजू की खुद की आर्थिक स्थिति हाल अच्छी नहीं है, पर फिर भी उन्होंने अपने ईमान के बीच अपने लालच को नहीं आने दिया और व्यापारी को उसके हीरे लौटाए थे।

पार्किंग एरिया में मिली थी बेग

रिपोर्ट में कहा गया कि कुछ दिनों पहले जब राजू प्रिंसेस प्लाजा के पार्किंग एरिया से गुजर रहे थे, तब उन्हें एक बेग मिला था। बेग खोलकर देखने पर उसमे हीरे भरे थे। राजू ने तुरंत ही इन हीरों को उसके मालिक तक पहोंचाने का निर्णय किया। राजू ने उसके बाद हीरे के असली मालिक को ढूंढना शुरू किया। आसपास कई लोगों से पूछताछ करने पर उसे एक व्यक्ति के बारे में जानकारी मिली, जो कि अपना बेग ढूंढ़ रहा था।

डायमंड मालिक ने कर ली थी घर बेचने की तैयारी

हरेश विराडिया नाम के इस व्यक्ति का बेग 22 सितंबर को खो गया था जिसके बाद उसने हर जगह खोज की। हालांकि उसे हीरे नहीं मिले। हरेश ने हीरे किसी और से लिए थे, जिसके चलते हरेश ने अपने घर बेच कर उस व्यक्ति को पैसे लौटाने की ठान ली थी। तभी उसे राजू का फोन आया था, जिन्होंने हरेश को सही सलामत उनके हीरे लौटाए थे।

बता दें कि राजू के परिवार में सात सदस्य हैं और सभी राजू की कमाई पर ही निर्भर हैं। ऐसे में आर्थिक रूप से परेशान होने पर भी राजू ने अपना ईमान नहीं खोया और डायमंड्स को उसके सही मालिक तक पहोंचाया था।

कहते हैं कि आपकी पहचान पैसे से नहीं आपके चरित्र और व्यवहार से बनती है और आपका चरित्र बनता है आपके कठिन समय में आपके लिए गए निर्णयों से। आदमी को हमेशा ही ईमानदार रहना चाहिए यह हम हमेशा से सुनते आ रहे हैं। ऐसी ही ईमानदारी की मिसाल पेश की है सूरत के हीरा

Related Articles