News Narmadanchal
हर बुखार या खांसी कोरोना का लक्षण नहीं, जानें किस स्तिथि में है घबराने की जरूरत

हर बुखार या खांसी कोरोना का लक्षण नहीं, जानें किस स्तिथि में है घबराने की जरूरत

हर बुखार या खांसी कोरोना का लक्षण नहीं ( फाइल फोटो)

हर बुखार या खांसी कोरोना का लक्षण नहीं ( फाइल फोटो)

कोरोना का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। जो सरकार और लोगों के लिए काफी चिंता का विषय बनता जा रहा है। वहीं अगर इसके लक्षणों की बात की जाए तो समय के साथ साथ इसके लक्षण भी लगातार बढ़ते जा रहे हैं। लोग भी इस वायरस के चलते काफी सहमे हुए नजर आ रहे हैं। डॉक्टर्स की मानें तो कई केस ऐसे भी आ रहे हैं जो जरा सी सर्दी जुकाम होने पर घबरा जाते हैं। हल्के से भी लक्षण दिखने पर लोग खुद को कोरोना पॉजिटिव मान लेते हैं। ऐसे में लोगों की परेशानी का हल निकालते हुए आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस लक्षण में कोरोना का खतरा सबसे ज्यादा होता है।

 कई अलग अलग लक्षण सामने आए

आपको बता दें कि ज्यादातर लोगों का मानना है कि कोरोना का खांसी ही एक लक्षण है, जबकि ऐसा नहीं है। कोरोना वायरस के कई अलग अलग लक्षण सामने आए हैं। वहीं 40 फीसद लोगों में स्वाद और सूंघने की क्षमता ही खत्म हो जाती है। इस लक्षण के दिखते ही लोग ज्यादा घबरा जाते हैं और सोचने लगते हैं कि उन्हें कोरोना का ज्यादा खतरा है। आपको बता दें कि यह लक्षण दिखे तो आप समझ जाएं कि आपको माइल्ड कोविड है। ऐसे में इंसान परहेज और दवाई से ही जल्द ठीक हो जाएगा।

डायरिया

सर्दी, जुकाम, खांसी जैसे लक्षणों के साथ साथ डायरिया भी कोरोना का ही एक लक्षण है। यह हमेशा बुखार से पहले आता है। इसमें इंसान को लूज मोशन, घबराहट और उल्टी होती है। ऐसे में इंसान को कोरोना से बिल्कुल भी डरने की जरूरत नहीं है।

बुखार

ज्यादार कोरोना मरीजों को बुखार आ रहा है। यह 14 दिन तक आता जाता रहता है। जहां कई लोग 1 या 2 दिन में ठीक हो जाते हैं तो कई लोगों को 14 दिनों तक बुखार रहता है। अगर आपको 100 डिग्री बुखार हैं और आपको बुखार आता जाता रहता है तो ऐसे में आपको घबराने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है।

Also Read: इस तरह तुलसी खाने से फायदे नहीं बल्कि मिलते हैं नुकसान

आवाज बैठना

कई लोग आवाज बैठने को भी कोरोना का लक्षण मान बैठते हैं। ऐसे में आपको बता दें कि आवाज बैठना या गला खराब होना कोरोना का लक्षण नहीं है।

ज्यादातर लोगों का मानना है कि कोरोना का खांसी ही एक लक्षण है, जबकि ऐसा नहीं है। कोरोना वायरस के कई अलग अलग लक्षण सामने आए हैं। वहीं 40 फीसद लोगों में स्वाद और सूंघने की क्षमता ही खत्म हो जाती है। इस लक्षण के दिखते ही लोग ज्यादा घबरा जाते हैं और सोचने लगते हैं कि उन्हें कोरोना का ज्यादा खतरा है। आपको बता दें कि यह लक्षण दिखे तो आप समझ जाएं कि आपको माइल्ड कोविड है।

Related Articles