News Narmadanchal

हाथरस गैंगरेप कांड: पीड़िता के परिजनों पर रखी जा रही कड़ी नजर, छिपकर आए भाई ने बताई पुलिस की बर्बरता की कहानी

पीड़िता के परिजनों पर रखी जा रही कड़ी नजरपीड़िता के परिजनों पर रखी जा रही कड़ी नजर

हाथरस गैंगरेप कांड: इस मामले में एक ओर जनता और विपक्षी पार्टियों का जोरदार प्रदर्शन देखने को मिल रहा है तो वहीं दूसरी ओर मीडिया से लेकर किसी भी नेता को पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने पर रोका जा रहा है। इस दौरान टीएमसी कार्यकर्ता और पुलिस में झड़प हो गई।

पीड़िता के घर को चारों ओर पुलिस बल से घर दिया गया है। किसी भी व्यक्ति को घर से बाहर निकलने पर रोक लगा रखी हुई है। गांव को पूरी तरह से सील कर दिया गया है, ताकि बाहर से कोई भी व्यक्ति पीड़िता के परिजनों तक पहुंच न सकें।

पुलिस की कड़ी नजर के बीच पीड़िता के एक भाई ने किसी तरह खेते के रास्ते निकलकर मीडिया के पास पहुंचा। जहां उन्होंने घटना के बाद से लेकर अब तक पुलिस की रवैया कैसी रही, इन सभी के बारे में मीडिया को जानकारी दी।

पीड़िता के भाई ने मीडिया को बताया पुलिस का रवैया

पीड़िता के भाई ने बताया कि हमारे परिवार को धमकी-धमकी पर मिल रहा है। हमारा फोन टेप किया जा रहा था। हम कोई भी बात करते हैं, इसकी जानकारी पुलिस को मिल जाती है। अब तो हमारा फोन भी छीन लिया गया है। किसी को बाहर निकलने नहीं दे रहे हैं।

भाभी मीडिया से मिलना चाहती है। घरवालों ने मुझसे कहा कि मीडिया को बुला लाओ। हमारे ताऊ भी आ रहे थे। कल डीएम ने उनके ताऊ की छाती पर लात मारी थी। फिर वह बेहोश हो गए थे। इसके बाद उसे कमरे में बंद कर दिया गया था।

इसके बाद पुलिस की नजरों से बचकर किसी तरह से मीडिया से पुलिस की बर्बरता के बारे में बताने आया हूं।

कांग्रेस के बाद टीएमसी के साथ धक्कामुक्की

उधर, कांग्रेस के बाद टीएमसी नेता पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे थे। जिसमें टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन भी मौजूद थे। इस दौरान टीएमसी नेताओं और पुलिस के बीच धक्का मुक्की हो गई। कांग्रेस के दौरान हुई धक्का मुक्की में राहुल गांधी गिर गए थे।

वहीं, टीएमसी नेताओं और पुलिस के बीच हुई झड़प में टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन जमीन पर गिर गए। हालांकि टीएमसी नेता को भी पीड़िता के परिवार से मिलने नहीं दिया गया। 

हाथरस गैंगरेप कांड: इस मामले में एक ओर जनता और विपक्षी पार्टियों का जोरदार प्रदर्शन देखने को मिल रहा है तो वहीं दूसरी ओर मीडिया से लेकर किसी भी नेता को पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने पर रोका जा रहा है। इस दौरान टीएमसी कार्यकर्ता और पुलिस में झड़प हो गई।[#item_full_content]

Related Articles