News Narmadanchal
हाथरस: पीड़िता के परिजनों ने नार्को टेस्ट करवाने से किया मना, कहा – जो अधिकारी झूठ बोल रहे हैं उसका करवाएं जांच

हाथरस: पीड़िता के परिजनों ने नार्को टेस्ट करवाने से किया मना, कहा – जो अधिकारी झूठ बोल रहे हैं उसका करवाएं जांच

पीड़िता के परिजनों ने नार्को टेस्ट करवाने से किया मनापीड़िता के परिजनों ने नार्को टेस्ट करवाने से किया मना

हाथरस गैंगरेप कांड के तहत योगी सरकार ने कहा कि परिजनों का नार्को टेस्ट किया जाएगा। इस पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि सरकार पीड़िता के परिजनों पर जबरदस्ती कर रही है। साथ ही धमकियां देकर नार्को टेस्ट करवाना चाहती है।

योगी सरकार नैतिक रूप से भ्रष्ट है। योगी सरकार पीड़िता के परिवार को धमकियां देना बंद कीजिए। उधर, मीडिया के दबाव ने योगी सरकार को झुकने पर मजबूर कर दिया। घटना के बाद अब जाकर मीडिया को पीड़िता के परिवार से मिलने की इजाजत दी गई।

पीड़िता के परिजनों ने नार्को टेस्ट करवाने से किया मना

इस दौरान एक मीडिया से बातचीत में पीड़िता के भाभी और मां ने कहा कि हम कोई गलत बयान नहीं दे रहे हैं। फिर हमारा नार्को टेस्ट किस लिए करवाया जा रहा है। हम सच बोल रहें हैं और आगे भी केवल सच ही बोलेंगे। इसलिए हम नार्को टेस्ट नहीं करवाएंगे।

पीड़िता की भाभी ने बताया कि नार्को टेस्ट क्या होता है? इसके बारे में पहले कभी सुना नहीं। अगर यह टेस्ट सच्चाई को सामने लाने के लिए किया जाता है तो डीएम साहब, एसपी का टेस्ट कराएं, जो हर एक बात पर झूठ पर झूठ बोले जा रहे हैं।

एसआईटी ने चार लोगों के लिए बयान

पीड़िता की भाभी ने आगे कहा कि एसआईटी ने उनके परिवार के चार लोगों के बयान लिए हैं। हमें किसी से कोई मतलब नहीं है। बस हमें पीड़िता का इंसाफ चाहिए, हमें कुछ नहीं चाहिए। साथ ही हमें बॉडी क्यों नहीं दिखाई गई, इसका भी जवाब चाहिए।

उस रात को जिला पुलिस ने किसका शव जलाया था, हमें ये भी पता नहीं है। अंतिम संस्कार के दौरान परिवार के किसी भी सदस्य को देखने नहीं दिया। उनके परिवार को अपनी बेटी का शव चाहिए। वे उन्हें देखना चाहते हैं।

हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों का आरोप है कि प्रशासन हर एक पहलू से उन पर दबाव बना रहे हैं। साथ ही धमकियां भी दे रहे हैं और अब कह रहे हैं कि परिवार का नार्को टेस्ट किया जाएगा।[#item_full_content]

Related Articles