News Narmadanchal

हाथरस: शव जलाने की जगह पर पहुंची SIT टीम, थोड़ी देर में होगी सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर सुनवाई

शव जलाने के स्थान पर पहुंची SIT टीमशव जलाने के स्थान पर पहुंची SIT टीम

हाथरस: गैंगरेप कांड का मामला अब सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है। हालांकि एसआईटी टीम भी अपनी जांच में लगी हुई है। एसआईटी की टीम एक बार फिर हाथरस पहुंची है। जहां शव जलाने के स्थान पर छानबीन की जा रही है। साथ ही मामले से जुड़े लोगों से भी पूछताछ कर रही है।

बता दें कि एसआईटी को सात दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपनी है और यह समय सीमा कल यानी बुधवार को खत्म हो रही है। उधर, गैंगरेप केस में आज सुप्रीम में सुनवाई होना है। दरअसल, गैंगरेप कांड को लेकर विपक्ष और जनता की मांग थी कि इस केस को सीबीआई के हाथों सौंपा जाएं।

इस मुद्दे को लेकर काफी विवाद वाला जंग छिड़ गया था। इसके बाद योगी सरकार ने तीन अक्टूबर को सीबीआई से हाथरस केस की जांच कराने का ऐलान किया था।

दो याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

सीबीआई जांच को लेकर सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। उनका कहना है  कि हाथरस में लड़की के साथ कथित बलात्कार और हमले की सीबीआई जांच के निर्देश देने चाहिए। हालांकि वो मामले की निष्पक्ष जांच करा सकती है लेकिन निहित स्वार्थ निष्पक्ष जांच को पटरी से उतारने के मकसद से प्रयास कर रहे हैं।

साथ ही केस दिल्ली ट्रांसफर करने को लेकर भी याचिका दायर किया गया था। इन दो याचिकाओं पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगी। वहीं, पीड़िता परिवार को सुरक्षा देने की मांग की गई थी। काफी हंगामे के बाद आखिरकार परिवार वालों को सुरक्षा मुहैया करवा दिया गया। 

मथुरा से चार संदिग्ध गिरफ्तार

जानकारी के लिए आपको बता दें कि हाथरस गैंगरेप कांड को लेकर देशभर में जनता और विपक्ष का आक्रोश प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। इस बीच कई विपक्षों को हिरासत में लिया गया। साथ ही कई लोगों पर केस भी दर्ज किया गया है।

वहीं, हाथरस आ रहे चार संदिग्धों को मथुरा से गिरफ्तार किया गया है। इस पर योगी सरकार ने दावा किया है कि हाथरस के बहाने राज्य में दंगा कराने की साजिश रची गई थी। चारों गिरफ्तार संदिग्धों का PFI से कनेक्शन है। 

हाथरस: गैंगरेप कांड को लेकर योगी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर किया कि हाथरस में लड़की के साथ कथित बलात्कार और हमले की सीबीआई जांच के निर्देश देने चाहिए। इस याचिका के तहत आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनाी है।[#item_full_content]

Related Articles