News Narmadanchal

8 लाख के इनामी कमांडर को उतारा मौत के घाट, शुरू हुई वर्चस्व की लड़ाई, नक्सल संगठन में दरार

जगदलपुर. माओवादी कमांडर डीवीसीएम दिनेश मोड़ीयम के निर्देश को नहीं मानना अधीनस्थ डीवीसी कमाण्डर को महंगा पड़ गया। दिनेश के निर्देश पर स्थानीय माओवादी द्वारा विज्जा मोडि़यम उर्फ बदरू की गोली मारकर हत्या कर दी गई। लगातार ग्रामीणों की हत्या के चलते नक्सल संगठन में दरार की खबर आ रही है, कुछ ग्रामीणों की हत्या का विरोध कर रहे हैं तो कुछ टेरर के लिए ग्रामीणों की हत्या का समर्थन कर रहे हैं। इसी विरोध के चलते 8 लाख के इनामी नक्सली कमाण्डर को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा इस सबंधं में रेंज आईजी सुंदरराज पी ने हरिभूमि से चर्चा में बताया कि आतंक के सहारे चलने वाले माओवादी संगठन का खात्मा शुरू हो चुका है।

बीजापुर जिले में ग्रामीणों की हत्या को लेकर माओवादी संगठन में फूट के चलते 1 अक्टूबर को ग्राम चितावर के जंगल में गंगालूर एरिया कमेटी के सचिव (डीवीसीएम) दिनेश मोडियम निवासी पेद्दाकोरमा थाना बीजापुर और गंगालूर एरिया कमेटी के कमाण्डर (डीवीसी) मोडियम विज्जा निवासी मनकेली के बीच विवाद हो गया था। माओवादी कमांडर दिनेश मोड़ीयम के निर्देश को मानने से इंकार करने पर उनके अधीनस्थ स्थानीय माओवादी द्वारा गोली मारकर हत्या करने की जानकारी सामने आ रही है ।

लाश परिजनों को सौंप दिया

आईजी ने बताया कि यह भी जानकारी मिल रही है कि माओवादियों द्वारा हत्या के बाद विज्जा का शव देर रात परिजनों को सौंप दिया है, जिसका उसके गृह ग्राम मनकेली में ही अंतिम संस्कार कर दिया गया है। दक्षिण बस्तर के अन्य क्षेत्र में भी माओवादी संगठन में ग्रामीण आदिवासियों से मारपीट, हत्या एवं अन्य हरकतों को लेकर नक्सल कैडर्स के बीच तनाव की स्थिति उत्पन्न हो रही है। आतंक के सहारे से चलने वाले माओवादी संगठन का खात्मा होना शुरू हो गया है। मारे गए माओवादी मोड़ीयम विज्जा 39 वर्ष पर शासन द्वारा आठ लाख का इनाम घोषित था।

नक्सली पर दर्ज थे डेढ़ दर्जन मामले

वह अपने साथ एके 47 रायफल रखा करता था। उसके खिलाफ बीजापुर जिले के विभिन्न थाना में 18 संगीन मामला दर्ज था। इनमें आम जनता व सशस्त्र बल की हत्या के अलावा लूट व अन्य जघन्य अपराध शामिल है। बदरू की हत्या के बाद एक बार फिर लाल गलियारे में वर्चस्व की लड़ाई शुरू हो गई है, जिसके परिणामस्वरूप आने वाले दिनों में फिर से उपद्रव की आशंका है।

अन्य क्षेत्र में भी तनाव की स्थिति

दक्षिण बस्तर के अन्य क्षेत्रों में भी माओवादी संगठन में आदिवासी हरकतों को लेकर नक्सल कैडर्स के बीच तनाव की स्थिति है। सुरक्षाबलों को माओवादियों की लड़ाई के बीच सतर्क रहने कहा गया है।

– सुंदरराज पी, आईजी बस्तर

माओवादी कमांडर डीवीसीएम दिनेश मोड़ीयम के निर्देश को नहीं मानना अधीनस्थ डीवीसी कमाण्डर को महंगा पड़ गया। दिनेश के निर्देश पर स्थानीय माओवादी द्वारा विज्जा मोडि़यम उर्फ बदरू की गोली मारकर हत्या कर दी गई। लगातार ग्रामीणों की हत्या के चलते नक्सल संगठन में दरार की खबर आ रही है, कुछ ग्रामीणों की हत्या का विरोध कर रहे हैं तो कुछ टेरर के लिए ग्रामीणों की हत्या का समर्थन कर रहे हैं।

Related Articles