News Narmadanchal

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी बोले- बाबरी केस में नहीं मिला इंसाफ, आगे अपील होनी चाहिए

असदुद्दीन ओवैसीअसदुद्दीन ओवैसी

अयोध्या में 28 साल पहले हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया है। जिसके बाद एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि इस फैसले के खिलाफ आगे अपील करनी चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, असदुद्दीन ओवैसी ने बुधवार को बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट के फैसले पर नाखुशी जताई। सीबीआई जज के फैसले पर कहा कि आरोपियों के खिलाफ कोई निर्णायक सबूत नहीं मिला है। कोर्ट ने सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया। जिनमें भाजपा के दिग्गज नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह और अन्य शामिल हैं।

आगे कहा कि साल 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में न्याय से इनकार किया गया है। यह भारतीय न्यायपालिका के इतिहास में एक दुखद दिन है। इसे काला दिन कहा जा सकता है। अब, कोर्ट का कहना है कि कोई साजिश नहीं थी। कृपया मुझे बताएं, एक कार्रवाई को सहज होने में कितने महीनों की तैयारी की जरूरत है।

जानकारी के लिए बता दें कि बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष कोर्ट ने बुधवार को लालकृष्ण आडवाणी समते सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया। कारसेवकों ने 16वीं शताब्दी की मस्जिद को ढहा दिया था, जिसके लगभग 28 साल बाद फैसला सुनाया गया है। लगभग एक साल बाद सुप्रीम कोर्ट ने विवादित अयोध्या स्थल पर राम मंदिर के पक्ष में भूमि का मामला सुलझाया था। जिसके बाद राम मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। 

अयोध्या में 28 साल पहले हुए बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष कोर्ट ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया है।

Related Articles