News Narmadanchal

Babri Demolition Case: सुशील मोदी बोले – कोई पूर्व सुनियोजित नहीं था षडयंत्र, कोर्ट के फैसले का स्वागत

सुशील कुमार मोदीसुशील कुमार मोदी

बिहार के डिप्टी सीएम एवं भाजपा नेता सुशील मोदी द्वारा बुधवार को ट्विटर के माध्यम से प्रेस रिलीज जारी कर बाबरी विघ्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट के फैसले का स्वागत किया गया है। बाबरी विघ्वंस मामले में सीबीआई की लखनऊ अदालत के फैसले का स्वागत करते हुये सुशील मोदी ने कहा कि वे 6 दिसंबर की पूरी घटना के चश्मदीद गवाह रहे हैं। सुशील मोदी ने कहा कि वहां पर जो मंच बना था। उस मंच का उनके द्वारा संचालन किया जा रहा था। वे उस दौरान वहां बनी मंच से कार सेवकों को दिशा-निर्देश दे रहे थे। सुशील मोदी ने कहा कि कोई पूर्व सुनियोजित षडयंत्र नहीं था। सुशील मोदी ने कहा कि वहां पर जो भीड़ मौजूद थी। उसी भीड़ ने आवेश में आकर पूरी घटना को अंजाम दिया। सुशील मोदी ने कहा कि उन्होंने भी स्वयं मंच से चिल्ला-चिल्लाकर उस उन्मादी भीड़ को रोकने का काफी प्रयास किया। लेकिन उनकी संख्या लाखों में थी। कोई सुनने को तैयार नहीं था। उन्होंने कहा कि घटना को लेकर वे भी हैरान हो गये थे।

लाल कृष्ण आडवाणी समेत विभिन्न नेताओं द्वारा भीड़ को रोकने का किया गया था प्रयास : सुशील मोदी

बिहार के डिप्टी सीएम एवं भाजपा नेता सुशील मोदी के अनुसार मंच पर से लाल कृष्ण आडवाणी समेत विभिन्न नेताओं द्वारा भीड़ को रोकने का काफी प्रयास किया गया। लेकिन भीड़ उन्मादी थी। साथ ही उक्त भीड़ किसी को भी सुनने को तैयार नहीं थी। सुशील मोदी ने कहा कि पूरी घटना को लेकर वहां मौजूद लाल कृष्ण आडवाणी समेत अन्य नेता काफी दखी थे। सुशील मोदी ने कहा कि अदालत ने आज इस पर अपनी मुहर लगा दी है। सुशील मोदी ने कहा कि कोर्ट का फैसला स्वीकार है। साथ ही स्वागत योग्य है।

बिहार के डिप्टी सीएम एवं भाजपा नेता सुशील मोदी ने बाबरी विघ्वंस मामले में सीबीआई कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। सुशील मोदी ने कहा कि वे इस मामले के चश्मदीद गवाह रहे हैं। कोई पूर्व सुनियोजित षडयंत्र नहीं था।[#item_full_content]

Related Articles