News Narmadanchal

Haryana के तीनों आक्सीजन प्लांटों पर नजर रखेगी पुलिस

स्वास्थ्य एवं गृहमंत्री अनिल विज

चंडीगढ़। हरियाणा के स्वास्थ्य और गृहमंत्री अनिल विज (Anil Vij) ने एक बार फिर से राज्य के अस्पतालों में कोविड के मरीजों आक्सीजन, वेंटीलेटर दवाओं आदि को लेकर आला अफसरों के साथ में समीक्षा बैठक की है।

इस दौरान एक बार फिर से विज ने साफ कर दिया है कि प्रदेश में आक्सीजन के तीन प्लांट हैं, जिन्हें सबसे पहले राज्य के अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति करनी होगी। इतना ही नहीं विज ने गुरुवार की शाम को राज्य के विभिन्न हिस्सों का अपडेट (Update) लिया साथ ही सभी प्लाटों पर नजर रखने के लिए कहा है, इतना ही नहीं उन्होंने पुलिस कर्मियों को तैनात कर उत्पादन व आपूर्ति पर नजर रखने के लिए कहा है।

विज ने एक बार फिर से राज्य में कोविड के मरीजों को लेकर आक्सीजन के साथ-साथ दवाओं, स्टाफ सहित बाकी सभी बिंदुओं की सिलसिलेवार समीक्षा की। उन्होंने एक बार फिर से आक्सीजन की उपलब्धता और आपूर्ति की समीक्षा करते हुए साफ कर दिया कि सबसे पहले राज्य को आक्सीजन मिलनी चाहिए, अभी तक आपूर्ति ठीक है, जो आगे भी बनी रहे।

अधिकारियो ने एक बार फिर से बताया कि हरियाणा में तीन प्लांट हैं। जहां पर होने वाले उत्पादन और आपूर्ति के तथ्यों पर मंथन कर लिया गया है। राज्य में आक्सीजन (Oxygen) की कोई किल्लत नहीं, उसके बावजूद प्लांटों पर आपूर्ति पर नजर रखने के लिए तीनों स्थानों पर पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाने का आदेश गुरुवार की देर शाम को हो गया है। संबंधित जिलों में बातचीत कर इसकी तुरंत ही व्यवस्था करने को कहा गया है।

विज ने कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही आक्सीजन और वेंटीलेटर की जरूरत वाले मरीजों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है। इसीलिए आक्सीजन और वेंटिलेटर बाकी सामान की किसी तरह के कोई कमी पेश नहीं आनी चाहिए।

मंत्री दिन प्रतिदिन हालात की समीक्षा की और अपने आफिस में विभाग के एससीएस राजीव अरोड़ा सहित बाकी अफसरों से जिलेवार अपडेट भी लिया। विज ने इमरजेंसी खरीद और इस पर होने वाले खर्च को लेकर बी आक्सीजन की कोई कमी नहीं हैं, राज्य में विभिन्न स्थानों पर तीन प्लांट लगे हुए हैं, जिनको साफ कर दिया भी अफसरों को साफ कर दिया है कि जो भी राशि खर्च हो रही है, उस पर नजर रखें। किसी भी तरह की शिकायत नहीं आनी चाहिए। राज्य में आक्सीजन प्लाटों तीनों पर पुलिस कर्मी की डयूटी लगाकर नजर रखने के लिए भी कहा गया है।

यहां उल्लेखनीय है कि पड़ोसी राज्य पंजाब सहित सात आठ राज्यों में आक्सीजन की कमी बनी हुई है, जिसको पंजाब के आला-अफसरों ने स्वीकार भी किया है। पंजाब ही नहीं बल्कि पंजाब सहित सात राज्यों में आक्सीजन की कमी हो रही हैं। वैसे, पंजाब के अलावा गुजरात, राजस्थान, एमपी, तेलंगाना, आंध्र आदि राज्यों में आक्सीजन की किल्लत आड़े आ रही है।

आक्सीजन की कोई कमी नहीं आने देंगे

हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का कहना है कि कोरोना नियंत्रण को लेकर हम लगातार हालात पर नजर रखे हुए हैं। इस संबंध में गुरुवार को हमने अधिकारियों के साथ में बैठक की है। जिसमें आक्सीजन ही नहीं बल्कि तमाम इंतजामों को लेकर बातचीत हुई है।

प्रदेश के लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं हैं। इतना ही नहीं तीन विशेष कोरोना क्रिटिकल कोविड सेंटर तैयार हो गए हैं, इन पर गंभीर मरीजों का चौबीसों घंटे ध्यान रखा जाएगा। पिछले दिनों हमने 3 एक्सक्लूसिव क्रिटिकल कोविड केयर सेंटर स्थापित करने का हमने फैसला लिया था।

जिसके लिए हमने अग्रोहा मेडिकल कालेज हिसार, करनाल और पीजीआई रोहतक में इंतजाम कर दिया है। इसके अलावा नोडल अधिकारी कोविड-19 ध्रुव चौधरी निगरानी रखेंगे और सरकार को फीडबैक और उचित जानकारी उपलब्ध करवाएंगे।  

गृहमंत्री विज ने साफ कर दिया है कि प्रदेश में आक्सीजन
(Oxygen) के तीन प्लांट हैं, जिन्हें सबसे पहले राज्य के अस्पतालों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति करनी होगी। इतना ही नहीं विज ने गुरुवार की शाम को राज्य के विभिन्न हिस्सों का अपडेट (Update) लिया साथ ही सभी प्लाटों पर नजर रखने के लिए कहा है, इतना ही नहीं उन्होंने पुलिस कर्मियों को तैनात कर उत्पादन व आपूर्ति पर नजर रखने के लिए कहा है।

Related Articles