News Narmadanchal

PNB से 20 लाख चोरी करने वाला बच्चा राजस्थान से पकड़ा

प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर

हरिभूमि न्यूज जींद। डीआरडीए के सामने स्थित पीएनबी की मुख्य शाखा से 20 लाख रुपये चोरी करने वाले बच्चे को पुलिस ने राजस्थान (Rajasthan) से पकड़ लिया। बच्चे ने बताया कि 20 लाख रुपये चोरी करते समय उसके साथ तीन लोग ओर शामिल थे। पकड़ा गया बच्चा मध्यप्रदेश के गांव कड़ियां का रहने वाला है। बच्चे ने पुलिस को बताया कि वह उसके पिता के साथ चोरी की वारदातों को अंजाम देने के लिए आया था।

उस दिन नकदी को लेकर वह राजस्थान की तरफ निकल गए और राजगढ में रूक गए। जब पुलिस उनकी लोकेशन (Location) के आधार पर वहां पर पहुंची तो वहां पर भी किसीं वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। जब पुलिस बच्चे को पकड़कर बातचीत करने लगी तो इसी दौरान आरोपित गाड़ी लेकर फरार हो गए। पुलिस बच्चे को लेकर जींद आ गई और उनकी तलाश शुरू कर दी।

ज्ञात रहे कि 28 सितंबर दोपहर को पीएनबी बैंक का हेड कैशियर सत्यवान जब बाथरूम करने के लिए कैबिन से निकला तो इसी दौरान एक बच्चा वहां से घुस गया और वहां से 20 लाख रुपये की नकदी लेकर फरार हो गया। बाद में जब पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला तो उसमें बच्चे के साथ एक दूसरा युवक भी दिखाई दे रहा है, लेकिन दोनों के मुंह पर मास्क लगा होने के कारण पहचान नहीं हो रही थी। पुलिस ने बैंक मैनेजर विश्वजीत सिन्हा की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज किया था।

गाड़ी नंबर व मोबाइल लोकेशन से आरोपितों तक पहुंची पुलिस

20 लाख चोरी होने के बाद पुलिस ने उस एरिया की मोबाइल काल डिटेल को खंगाला। जहां पर चार मोबाइल मध्यप्रदेश नंबर के मिले। इसमें दो मोबाइल बैंक के अंदर व दो बाहर चल रहे थे। उन मोबाइल नंबरों की डिटेल खंगाली तो उनकी लोकेशन राजस्थान के राजगढ़ में मिली। उसी लोकेशन को ट्रेस करते हुए पुलिस चोरों तक पहुंची। जहां पर बच्चा तो पुलिस ने पकड़ लिया, लेकिन दूसरे आरोपित फरार होने में कामयाब हो गए।

जल्द ही पकड़ जाएंगे आरोपित

सिविल लाइन थाना प्रभारी हरिओम ने बताया कि बच्चे को तो पकड़ लिया हैं, लेकिन तीन आरोपित फरार हो गए। बच्चे से उनके नाम पते तो आ गए, लेकिन अभी उनके नामों का खुलासा नहीं करेंगे। आरोपितों के पकड़े जाने पर दूसरी वारदातों के खुलासे होने की संभावना है।

उस दिन नकदी को लेकर वह राजस्थान
(Rajasthan) की तरफ निकल गए और राजगढ में रूक गए। जब पुलिस उनकी लोकेशन के आधार पर वहां पर पहुंची तो वहां पर भी किसीं वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। जब पुलिस बच्चे को पकड़कर बातचीत करने लगी तो इसी दौरान आरोपित गाड़ी लेकर फरार हो गए।

Related Articles