News Narmadanchal

Rewari : एम्स को लेकर केन्द्र की टीम ने भालखी-माजरा की जमीन का किया अवलोकन

रेवाड़ी। एम्स निर्माण के लिए माजरा व भालखी गांव की जमीन का अवलोकन करते हुए संयुक्त सचिव सुनील शर्मा व उनकी टीम व उपायुक्त यशेन्द्र सिंह, एडीसी राहुल हुड्डा

हरिभूमि न्यूज : रेवाड़ी

रेवाड़ी जिले में एम्स को लेकर एक बार फिर केन्द्र सरकार (Central government) की तरफ से कवायद शुरू कर दी गई है। गुरुवार को केन्द्र सरकार में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर के संयुक्त सचिव सुनील शर्मा के नेतृत्व में केंद्रीय टीम ने एम्स निर्माण (AIIMS Construction) के लिए जिल के माजरा व भालखी गांव की जमीन के बारे में लोक निर्माण विश्राम गृह में डीसी यशेन्द्र सिंह व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर इस बारे जानकारी ली। साथ ही एम्स निर्माण के लिए माजरा व भालखी गांव की जमीन का भी जायजा लिया। जायजा लेने पहुंची टीम में डीके शर्मा, मेडिकल सुपरिंटेंडेंट एम्स नई दिल्ली, नरेन्द्र कुमार ओज, निदेशक,पीएमएस एस, मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ फैमिली वेलफेयर, राजीव कनौजिया, सीनियर आर्किटेक्ट सीडीबी, जीपी श्रीवास्तव, एसई, एम्स राय बरेली शामिल थे।

संयुक्त सचिव सुनील शर्मा के नेतृत्व में केन्द्र सरकार से आए अधिकारियों की टीम ने माजरा भालखी गांव की जमीन, बिजली, पानी, सड़क, रेल यातायात, शिक्षण संस्थाओं विश्वविद्यालयों के बारे में बारीकी से जानकारी ली। इसके अतिरिक्त उन्होंने एयर स्ट्रीप बाछौद की दूरी के साथ-साथ राष्ट्रीय राजमार्गो 11 व 48 की जानकारी जुटाई। टीम ने जहां एम्स का निर्माण कार्य बारे लेवलिंग के बारे में भी विचार विमर्श किया। केन्द्र से आई हुई टीम ने जमीन के सजरा व मैप का मौके पर ही अवलोकन किया तथा टीम ने माजरा व भालखी गांव की जमीन की कनैक्टिवीटी को भी देखा। सीनियर आर्किटेक्ट सीडीबी राजीव कनौजिया ने एम्स की ड्राइंग के हिसाब से मौका मुआयना करते हुए नक्शे से मिलान किया। इसके बाद संयुक्त सचिव सुनील शर्मा, एम्स नई दिल्ली के मेडिकल अधीक्षक डॉ डीके शर्मा व उनकी टीम के सदस्य ने लोक निर्माण विश्राम गृह में सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल, डीसी यशेन्द्र सिंह व अन्य अधिकारियों के साथ बैठक कर विस्तार से चर्चा की।

डॉ. बनवारी लाल ने दिल्ली से आई टीम को बताया कि माजरा भालखी गांव में पहुंचने के लिए आवागमन की अच्छी सुविधा है। सड़को को फॉर लेन किया जा रहा है व रेवाड़ी बाइपास भी बनाया जा रहा है। मंत्री ने बताया कि इसके अतिरिक्त यहां रेल की भी अच्छी सुविधा है तथा रेवाड़ी रेलवे स्टेशन से छह दिशाओं में ट्रेन जाती है। उन्होंने बताया कि एम्स के निर्माण से रेवाड़ी, महेन्द्रगढ, चरखी दादरी, भिवानी, झुन्झुनू, अलवर जिला के लोगों को लाभ मिलेगा। इसके अतिरिक्त नीमराना, भिवाड़ी व बावल में कंपनियों में कार्य करने वाले लाखों लोगों को भी इसका फायदा होगा। इस मौके पर उनके साथ एडीसी राहुल हुड्डा, एसडीएम रेवाड़ी रविन्द्र यादव, डीआरओ विजय यादव, डीएफओ सुन्दर लाल, डीटीपी नीलम शर्मा, कार्यकारी अभियंता जनस्वास्थ्य विभाग रविन्द्र गोठवाल, सीएमओ डॉ सुशील माही सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

संयुक्त सचिव सुनील शर्मा के नेतृत्व में केन्द्र सरकार (Central government) से आए अधिकारियों की टीम ने माजरा भालखी गांव की जमीन, बिजली, पानी, सड़क, रेल यातायात, शिक्षण संस्थाओं विश्वविद्यालयों के बारे में बारीकी से जानकारी ली।

Related Articles